15-10-2018 05:57:pm
आपदाओं का कहर, अमेरिका से लेकर अफ्रीका तक अनेक लोगों ने गंवाई जान || कठिन होगी यूके की राह, वीजा के लिए देनी होगी अब दोगुनी कीमत || पाकिस्तान की तारीफ कर फिर फंसे नवजोत सिद्धू || उमा ने रामलाल को सौंपी 8 नामों की लिस्ट, मांगे टिकट  || परूपल्ली कश्यप ने पासपोर्ट खोया, सुषमा से मांगी मदद || एमजे अकबर का सवाल आते ही बिना जवाब दिए लौटे संबित  || पृथ्वी, पंत, रहाणे के अर्धशतकों की मदद से भारत मजबूत स्थिति में  || कोरिच ने फेडरर को हरा उलटफेर किया || सरकारी स्वर्ण बांड की दर 3,146 प्रति ग्राम तय || शेयर बेचने पर लगी रोक से बंधन बैंक को मिली छूट  || 7 लाख श्रद्धालुओं ने किए केदारनाथ के दर्शन || GST के बाद अब देश में एक समान स्टांप ड्यूटी की तैयारी  || नेपाल में हिमस्खलन; 4 शेरपा और 5 पर्वतारोही बर्फ में दफन || कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ अल्पसंख्यक, ओबीसी विभाग के प्रमुख बदले  || अन्नपूर्णा देवी को मिलती थी ज्यादा तारीफ तो बिगड़ जाता था पं. रविशंकर का मिजाज, दोनों के बीच संगीत ही बना बाधा  || गुरुग्राम: सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी ने जज की पत्नी और बेटे को बीच सड़क गोली मारी || देश के 600 जिलों में खोले जाएंगे कौशल विकास केंद्र || सड़क पर उतरे अय्यय्पा के भक्त || BCCI के सीईओ राहुल जौहरी पर नौकरी के नाम पर यौन शोषण का आरोप || भाजपा-शिवसेना साथ मिलकर लड़ सकती है लोकसभा चुनाव : पवार  || ‘बसपा को कमजोर करना चाहती है कांग्रेस’  || राजस्थान के 51 मरीजों में जीका की पुष्टि, मप्र में जारी हुआ अलर्ट  || असम में बम विस्फोट से चार लोग घायल || एचएएल पहुंचे राहुल गांधी, कहा हमारा देश इस कंपनी का कर्जदार || मेलानिया बोलीं-ट्रंप से कोई समस्या नहीं || कमल हासन की शर्त-कांग्रेस से हाथ मिलाएंगे पर वो द्रमुक से समझौता तोड़े || पाकिस्तान में महिला अधिकार कार्यकर्ता गुलालई रिहा  || लापता पत्रकार के मुद्दे पर ट्रंप सख्त सऊदी अरब के शाह से करेंगे बात  || अफगानिस्तान में चुनाव रैली में हुआ धमाका,14 की मौत  || जेके में तीसरे चरण में मात्र 16.4 फीसदी मतदान || छतरपुर में अखिलेश बोले-नाराज कांग्रेसी सपा से चुनाव लड़ें || बंगाल की खाड़ी में तैयार हो रहा सिस्टम तय करेगा मौसम की करवट || पूर्व बल्लेबाज मैथ्यू हेडन सर्फिंग के दौरान गंभीर रूप से घायल || सुपौल केस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- ऐसा कैसे कर सकते हैं || शताब्दी से एलसीडी हटाए तो किराया भी घटाओ || दिलीप कुमार निमोनिया ग्रस्त, फिरअस्पताल में भर्ती || जम्मू-कश्मीर निकाय चुनाव; पहले चरण में 63.83 % मतदान  || विलियम नोर्दहॉस और पॉल रोमर को मिलेगा अर्थशास्त्र का नोबल पुरस्कार || 50 हजार लोगों के गुजरात छोड़ने का दावा; योगी और नीतीश ने रूपाणी से कहा- सुरक्षा मुहैया कराएं || पीड़िता किसी भी उम्र में दर्ज करा सकती है शिकायत: मेनका गांधी || अपनी दावेदारी मजबूत करने नेताओं ने दिल्ली में डाला डेरा || राफेल डील पर 10 को होगी सुनवाई  ||

नई दिल्ली। पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों पर लगातार आलोचना झेल रही मोदी सरकार ने गुरुवार को पेट्रोल-डीजल पर लोगों को राहत दी। वित्तमंत्री अरुण जेटली ने इनके दामों पर 1.5 रुपए एक्साइज ड्यूटी घटाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि तेल कंपनियां 1 रुपए प्रति लीटर दाम कम करेंगी। ऐसे में उपभोक्ताओं को प्रति लीटर 2.50 रुपए की राहत मिलेगी। जेटली ने राज्यों से भी पेट्रोल- डीजल पर वैट में इतनी ही राशि की कटौती करने की अपील की। इसके कुछ देर बाद ही मप्र, गुजरात, छत्तीसगढ़, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, झारखंड, त्रिपुरा, हिमाचल प्रदेश, असम, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, और गोवा ने पेट्रोल-डीजल पर 2.50 रुपए वैट कम कर दिया। महाराष्ट्र ने सिर्फ पेट्रोल पर 2.50 रुपए वैट कम किया है। 

केंद्र सरकार ने 2 साल में 9 बार एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई

नवंबर 2014 से जनवरी 2016 के बीच क्रूड के दाम कम होने पर केंद्र सरकार ने 9 बार एक्साइज ड्यूटी बढ़ाकर पेट्रोल डीजल के दाम कम नहीं होने दिए। इस दौरान पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी में 11.77 और डीजल पर ड्यूटी में 13.47 रुपए का इजाफा किया गया। 2017-18 में पेट्रोल-डीजल पर टैक्स से सरकार ने 2.29 लाख करोड़ रु. की कमाई की। 

5 रुपए कमी के बाद... भोपाल में 100 रु. में पेट्रोल मात्र 60 ml और डीजल 90 ml ज्यादा मिलेगा

भोपाल। पेट्रोल और डीजल के दाम में 5 रुपए की कटौती के बाद जनता को खास राहत नहीं मिलने वाली। पेट्रोल पंप डीलर्स के मुताबिक 95 प्रतिशत से ज्यादा ग्राहक 100, 500 या 1000 रुपए का पेट्रोल- डीजल डलवाते हैं। अगर गुरुवार के दाम से 5 रुपए कम कर तुलना की जाए तो शुक्रवार को100 रुपए में सिर्फ 60 मिलीलीटर (एमएल) ज्यादा पेट्रोल और डीजल 90 एमएल ज्यादा ही मिलेगा। 

एसबीआई रिसर्च की रिपोर्ट... राज्यों को दाम बढ़ने से 13 हजार करोड़ का फायदा, 4.60 रुपए तक घटा सकते हैं दाम

मुंबई। एसबीआई रिसर्च ने एक नोट में कहा है कि राज्य अपने राजस्व को प्रभावित किए बिना पेट्रोल पर 4.60 रुपए और डीजल पर 3.30 रुपए प्रति लीटर तक कटौती कर सकते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक र्इंधन की बढ़ती कीमतों के चलते राज्यों को 13,000 करोड़ रुपए का लाभ हुआ है। 

जनता की याददाश्त भले कमजोर हो, लेकिन वह जानती है कि राई जैसी यह राहत चुनावी है

माना कि जनता की याददाश्त कमजोर होती है, मगर जनता को याद होगा कि कुछ दिन पहले तक केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद कह रहे थे कि पेट्रोल-डीजल की कीमत तय करना सरकार के हाथ में नहीं है। केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान का भी कहना था कि तेल की बढ़ती कीमतों के लिए अंतरराष्ट्रीय कारक जिम्मेदार हैं और बढ़ रही कीमतों के पीछे ईरान, वेनेजुएला और तुर्की जैसे देशों के वह हालात हैं, जिन्होंने तेल उत्पादन को प्रभावित किया है, फिर आज अचानक क्या हो गया ? जाहिर है मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव, जिन्हें 2019 का सेमीफाइनल माना जा रहा है। यानी जब चुनाव सर पर होते हैं तो अर्थव्यवस्था, अंतराष्ट्रीय मूल्यों में हो रही बढ़ोतरी या कीमतों के निर्धारण में सरकार हस्तक्षेप नहीं करती, जैसी भारी भरकम बातें गौण हो जाती हैं। एकमात्र लक्ष्य होता है चुनाव जीतना। दरअसल सरकार नहीं चाहती कि पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम चुनावी मुद्दा बनें। इसे रोकने के लिए एक्साइज ड्यूटी में कटौती की गई। शायद यही वजह है कि जैसे ही वित्त मंत्री अरुण जेटली ने केंद्र सरकार की कटौती की घोषणा की उसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा शाषित कई राज्यों ने वैट कम करने का ऐलान कर दिया। यह घोषणा करते समय नेताओं को अचानक जनता की तकलीफें नजर आने लगीं। लेकिन, जनता सब जानती है और उसे पता है कि 'राई' जैसी यह राहत चुनाव तक ही है। दरअसल, भाजपा ने पेट्रोल डीजल की कीमतों पर लगाम लगाने की शुरुआत गुजरात चुनाव के समय की थी। उस दौरान भाव स्थिर हो गए थे। फायदा भाजपा को मिला। इसी तरह कर्नाटक विधानसभा के दौरान भी रोज बढ़ने वाली कीमते 19 दिनों तक स्थिर रहीं, जबकि उस दौरान अंतरराष्ट्रीय बाजार में मानक मूल्यों में करीब तीन डॉलर प्रति बैरल की तेजी भी आई थी। मगर चुनाव से पहले तेल की कीमतें स्थिर कर देने से भाजपा को कर्नाटक में फायदा ही हुआ था। यानी भाजपा को यह समझ आ गया है कि पेट्रोल-डीजल की लगातार कीमतों पर लगाम नहीं लगाने का नुकसान उसे आगामी चुनावों में हो सकता है। बढ़ती कीमतों के खिलाफ विपक्ष के आंदोलन और जनता को हो रही परेशानी के बीच कई अहम सवाल पैदा होते हैं। इनमें से सबसे अहम सवाल यह है कि जब मोदी और शिवराज सरकार के पास महंगे होते पेट्रोलियम उत्पादों से लोगों को राहत देने के लिए विकल्प मौजूद था तो इनपर पहले गौर क्यों नहीं किया गया? कांग्रेस ने कहा हजारों घाव देकर मोदी सरकार ने बैंड एड लगाया पांच राज्यों के चुनावों में हार देखकर मोदी सरकार ने हजारों घाव देने के बाद अब बैंड-एड लगाने का काम किया है। मई 2014 से सरकार ने लोगों से 13 लाख करोड़ रुपए की लूट पेट्रोलियम उत्पादों पर कर के जरिए की है। प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री को इसका जवाब देना चाहिए कि उन्होंने जनता के इस पैसे का किया क्या? -रणदीप सुरजेवाला, कांग्रेस प्रवक्ता

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
उपनगरीय बसों में यात्रा करने को बेबस हैं सेवा सूत्र बंद होने से परेशान यात्री || उजाड़ दिए पुराने पार्क, इधर 9करोड़ खर्च कर बनाए जा रहे हैं तीन नए पार्क  || शिवराज के सामने कांग्रेस चलाएगी अर्जुन के तीर  || चुनाव के बाद ही कॉलेजों को मिलेंगे नए शिक्षक  || किसान तालाब में क्यों कूदा जांच करेंगे सीएसपी हरीश || 1933 में एमएच हाउस के सामने विराजीं थीं मां भगवती  || इंदौर में राहुल का राजीव गांधी जैसा रोड शो करने में जुटी कांग्रेस || पूर्व विधायक प्रद्युम्न ने दी आरपीएफ को गिरफ्तारी  || शहर में जल प्रदाय, कचरा और लाइटिंग की सेंट्रल कमांड कंट्रोल सेंटर से करेंगे निगरानी || 3.5 लाख के जेवर उड़ाने वाली महिला गैंग को मिनटों में पकड़ा  || नर्मदा की वादियों में गूंजेंगे कविता पौडवाल के गीत  || जज की समझाइश पर मानी गलती, टूटने से बचे परिवार || दुराचार के आरोपी पिता को मृत्यु पर्यन्त कारावास की सजा || एके-47 बेचने का नेटवर्क संचालित करता था मंजी, अब पुलिस रिमांड पर || बेगमगंज व सुल्तानगंज में कोई भी गांव डूबेगा नहीं || कुशीनगर, पंजाब मेल से अवैध वेंडर पकड़े गए || पुलिसिंग का जायजा लेने घंटों घूमे कप्तान, कोई गेम खेलते मिला तो कोई फेसबुक पर बिजी! || बिल्डर पर फोरम ने लगाया 7-7 हजार रुपए का जुर्माना || जरूरतमंद बच्चों के लिए शुरू किया देश का पहला चप्पल बैंक  || सर, फर्जी दिव्यांग छीन रहे हमारा हक || मिठाई में नशीला पदार्थ मिलाकर महिला से किया बलात्कार || 400 करोड़ की लागत से भोपाल में लगेगा ट्रक विनिर्माण संयंत्र || छात्रों ने अतिथि विद्वान को कमरे में बंद किया, परीक्षा नहीं होने दी || भाजपा पार्षद ने की सिटी प्लानर की शिकायत ईओडब्ल्यू में || प्रोफेसरों को पेपर बनाने और कॉपी जांचने का पैसा आॅनलाइन मिलेगा || महिला बंदियों को नहीं होती सामग्री वितरित || छेड़खानी करने वाले को तीन साल का सश्रम कारावास  || कुपोषण का कलंक, एक साल का बच्चा एनआरसी में भर्ती || घर में घुसकर आधा दर्जन से अधिक लोगों ने किया हमला || इंदौर में आदिवासी छात्रा के साथ प्राचार्य ने की रेप की कोशिश, आरोपी फरार || ब्रह्मोस की जानकारी लीक करने वाला DRDO इंजीनियर अरेस्ट || 16 दिसंबर को शादी रचाएंगे सायना-परूपल्ली  || सबरीमला मंदिर मामले में समीक्षा याचिका दायर || उत्तर पुस्तिका की प्रमाणित प्रति पाना परीक्षार्थी का अधिकार || दो किलोमीटर लंबी चुनरी चढ़ाई जाएगी बिजासन मैया को || मूर्तिकार ने मना किया तो समिति वालों ने खुद बना डाली महाकाली की प्रतिमा || दुष्कर्म के आरोपी युवक के सिर पर पत्थर पटक कर नृशंस हत्या || बेलगाम ट्रक डिवाइडर से टकराया, चालक की मौत || वाटर एटीएम हुए ठप, कंपनी घाटा दिखा निकाल रही कर्मचारियों को || कर्मचारी आचार संहिता का करें पालन, वरना हो सकती है जेल || मेडिकल कॉलेज में आॅन लाइन मिलेगी पैथोलॉजी रिपोर्ट || क्षमा याचना के साथ तर्पण कर पितरों को दी विदाई || सफाई अभियान के दूसरे दिन ही फिर लग गए कचरे के ढेर  || भड़के मेयर ने कहा अंतरास्ट्रीय धरोहर को कर रहे हो खत्म || 265 पहुंची डेंगू के मरीजों की संख्या, 37 नए आए || विधानसभा चुनाव का बिगुल बजा, दो से भरे जाएंगे फार्म || अलग -अलग हादसों में चार की मौत || राहुल गांधी का विमानतल पर स्वागत || पोस्टर-बैनर हटाने का अभियान शुरू || बड़े तालाब के कैचमेंट में नहीं खुलेंगे मैरिज गार्डन,कृषि,पर्यटन में भी रोक || मामा ने अपना लिवर देकर भांजे के चेहरे पर लाई खुशी || प्रोफेसरों ने 7वें वेतनमान को लेकर दिया धरना || बच्चों की जिद से 10 साल बाद एक हो गए मम्मी डैडी || बंगले से सिर्फ मंत्रालय तक जा सकेंगे सरकारी गाड़ी में मंत्री || पैदल जा रहे युवक की लो- फ्लोर बस से कुचलकर मौत || सिर्फ भोपाल में 200 रुपए प्रति शो टैक्स का विरोध || पीपुल्स पैरामेडिकल कॉलेज ने लगाया कैंप ||
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.