26-07-2017 06:03:am
अवैध पिस्टल सहित दो आरोपी गिरफ्तार || आईटीआई में काम कारने वाली महिला ने की खुदकुशी || 7 बदमाश पुलिस की गिरμत में अवैध हथियार भी बरामद || सात घंटे के जनदर्शन में उमड़ा सैलाब, बोल बम से गूंजा अंचल || मंडल केंद्रों पर फूंके पुतले  || भिंड में एक सप्ताह में निपटे सिर्फ 545 प्रकरण  || अंतिम दिन नाम निर्देशन-पत्र दाखिल करने उमड़े दावेदार || बमभोले के जयकारों सें गूंजे शिवालय  || सिंधिया का पुतला फूंका  || 11 श्रीसंघों ने की गुणानुवाद सभा || साधना का महत्व, साधन का नहीं || कोर्ट-कचहरी के फेर में अटके 45 करोड़ रुपए || टिन शेड के लिए चार लाख रुपए स्वीकृत || अध्यापकों ने भोपाल पहुंचकर भरी हुंकार || किरण और पुष्पा के बीच होगा अध्यक्ष पद के लिए मुकाबला || टाइगर की खाल बेचते चार आरोपी गिरफ्तार || आराधकों ने भक्तिभाव से की प्रभु की पूजा-अर्चना || पॉलिथीन के उपयोग के विरुद्ध लोगों को किया जागरूक || भगवाधारियों ने लगाए भोले के जयकारे ||

इंदौर   ।  बड़ा बिलावली तालाब में हुई मछलियों की मौत के मामले की जांच रिपोर्ट के आधार पर प्रभारी जोनल अधिकारी समेत तीन लोगों को सस्पेंड कर दिया गया, जबकि लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी के प्रभारी सहायक यंत्री व उपयंत्री को निलंबित करने के लिए संभागायुक्त को पत्र लिखा गया है। इस पूरे प्रकरण में जलकार्य समिति के प्रभारी को क्लीनचिट देकर सभी को चौंका दिया। पिछले दिनों बड़े बिलावली तालाब में पानी छोड़ने के कारण मछलियों की हुई मौत की घटना पर महापौर और निगम कमिश्नर मनीषसिंह ने पूरे मामले की जांच अपर आयुक्त संतोष टैगोर को सौंपी थी। टेगौर ने सात दिन में जांच पूरी कर रिपोर्ट कमिश्नर को सौंपी। इसमें प्रभारी जोनल अधिकारी व उपयंत्री हेमंत मिश्रा दोषी पाए गए। उन्हें निलंबित कर दिया है, जबकि चौकीदार विजय चौधरी और बेलदार राधेश्याम जायसवाल को भी इस घटना में दोषी पाए जाने पर निलंबित किया है। जांच रिपोर्ट में यह भी स्पष्ट हुआ है कि बिलावली तालाब पर लंबे समय से कार्यरत चौकीदार विजय चौधरी द्वारा बड़ा बिलावली एवं छोटा बिलावली तालाब सहित जोन क्रमांक 13 के अंतर्गत स्थित अन्य तालाबों के जल स्तर की जानकारी प्रतिदिन दी जाती थी तथा रजिस्टर में दर्ज भी की जाती थी। उपयंत्री हेमंत मिश्रा द्वारा जोन क्षेत्रांतर्गत आने वाले तालाबों की दैनिक रिपोर्ट की अनदेखा की गई। मिश्रा द्वारा प्रतिदिन की रिपोर्ट पर ध्यान दिया जाता तो यह घटना रोकी जा सकती थी तथा विजय चौधरी एवं राधेश्याम जायसवाल द्वारा बिना सक्षम स्वीकृति व वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान में लाए बिना ही पानी छोड़ने का कृत्य कर लापरवाही की गई। दो अफसरों के निलंबित के लिए पत्र लिखा : जांच रिपोर्ट में प्रभारी सहायक यंत्री एसके जुन्नारे और उपयंत्री शरद सोहनी द्वारा वॉल्व खोलने एवं बंद करने के कार्य में प्रभावी नियंत्रण नहीं रखने एवं इनके द्वारा कार्य में लापरवाही सामने आने पर कमिश्नर मनीषसिंह ने दोनों को निलंबित करने तथा इनके खिलाफ विभागीय जांच करने के मामले में संभागायुक्त को पत्र लिखा है, वहीं शहर के तालाबों का कार्य जलकार्य समिति के प्रभारी बलराम वर्मा के पास है। उक्त घटना की जांच रिपोर्ट में कहीं भी उनका उल्लेख नहीं है, जबकि पहली जिम्मेदारी उनकी ही बनती है। जांच रिपोर्ट के आधार पर जलकार्य समिति प्रभारी को निगम ने क्लीनचिट देकर सभी को हैरानी में डाल दिया।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
कियोस्क बैंक के ताले तोड़कर बाइक व नकदी चोरी  || जीवनभर शिक्षा देने वाले मोघे दे गए अंत में भी संदेश  || सिंधिया का अपमान नहीं होगा बर्दाश्त: कांग्रेस  || अल्पसंख्यक के उत्थान के लिए करूंगा काम  || तमिलनाडु हैंडीक्रॉफ्ट मेला ग्वालियर में लगा  || पिछले साल 100 करोड़ की प्याज खरीदी, 75 करोड़ की सड़ गई, फेंकने पर भी किए खर्च || बजट की 30%तक राशि खर्च नहीं कर सके निकाय || जातिगत गालियां देने और पीटे जाने की शिकायत की  || मप्र ट्रैवल मार्ट अक्टूबर में भोपाल में आयोजित होगी || नरोत्तम मिश्रा के नाम पर विस में जवाब से हंगामा || छेड़छाड़ के आरोप में पिता को ले गई पुलिस तो बेटे ने फांसी लगाकर दी जान  || भाजपा ने प्रदेशभर में फूंके ज्योतिरादित्य सिंधिया के पुतले || युवक की गला व पेट काटकर हत्या  || भक्तों का हाल जानने के लिए करेंगे नगर भ्रमण || आधा दर्जन घरों में धावा चोरों ने किए हाथ साफ ||
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.