23-11-2017 10:11:pm
फिटनेस सेंटर के लिए कॉमन रोड बनाया, लगेगा जाम || करीना ने ठुकराया टीवी पर जज बनने का आॅफर  || कपिल की फिल्म ‘फिरंगी’ का प्रदर्शन एक दिसंबर तक टला || जेएएच को देखकर बोले कलेक्टर: यहां के हालात तो बेहद खराब हैं, ऐसे नहीं चलेगा || पद्मावती के निर्माता भंसाली के खिलाफ परिवाद दाखिल || जयगुरुदेव के भक्त कसम खाएंगे शराब नहीं पीने की  || अमेरिकी नौसेना का प्लेन क्रैश, 8 को बचाया || चीन में हुई गोलीबारी 3 की मौत, 6 घायल || 10 माह बाद रिहा होगा हाफिज  || वॉशिंगटन से अच्छी सड़कें हैं तो एक बार शनिचरा मार्ग की सड़कें भी देख लें  || सहेली की जान बचाने शहीद हुई थी वीरांगना  || सीएमएचओ के ड्राइवर और कंपाउंडर में पैसों के लेनदेन पर चले जूते-चप्पल || क्रेशर बस्ती में 362 आवास बनने का रास्ता हुआ साफ || मतदाताओं को मिलेगा यूनिक वोटर आईडी नंबर || मिलेनियम वोटर भी डालेंगे अगले चुनावों में वोट || सरकारी आवासों संबंधी मामले में मांगा जवाब || छोटों पर सितम, बड़ों पर रहम:श्रीवास || भालू की दहशत से घरों में दुबके लोग || बिना हैलमेट पुलिस वालों की थानों में दर्ज नहीं होगी आमद || घंटाघर में कबाड़ी के नौकर से जब्त किए साढेÞ पांच लाख || व्हीएफजे को मिला 750 एलपीटीए का काम || जेल बदलने भूख हड़ताल पर बैठा कैदी || सिर कुचलकर हम्माल की हत्या || फिर सिरफिरों ने किया उत्पात चार गाड़ियों के कांच फोड़े || निगम अधिकारियों ने चौपाटी कारोबारियों के सामने रखी शर्तें  || चेक का क्लोन बनाने वाला पकड़ा  || जेयू के प्रोफेसर अपना दायित्व अच्छे से निभा रहे हैं: प्रो. शुक्ला  || कांग्रेसी मियाद पर हिंदू महासभा ने कहा र्इंट का जवाब पत्थर से देंगे  || स्वच्छता के साथ ही ग्रामीणों को मिलेगा रोजगार  || बहन के घर से भाग जाने पर दुखी भाई ने लगा ली फांसी  || मकान तोड़ने से गुरेज नहीं, सड़क बने बेहतरीन  || सुधारे जाएं सफाई कर्मचारियों के आवास  || गाय से नहीं, 'चारा खाने वालों' से लगता है डर || लापरवाह अफसरों को थमाएंगे नोटिस  || सनी लियोन के साथ काम करना चाहते हैं अरबाज  || कश्मीर घाटी के तापमान में गिरावट || बढ़ रहे चाइल्ड केयर पिता ||

जबलपुर। कृषकों को सही और सटीक जानकारी देने के लिए जवाहर लाल नेहरू कृषि विवि द्वारा विशेष कवायद की जा रही है। इसमें मोबाइल एप तैयार कर किसानों को वास्तविक जानकारी उपलब्ध हो सकेगी। इस तरह सूचना प्रौद्योगिकी के सटीक तालमेल से कृषि को और भी समुन्नत किया जा सकेगा। गौरतलब है कि विवि द्वारा ‘‘प्रो साइल’’ परियोजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। जर्मन प्रोजेक्ट जीआई जेड के द्वारा मैनेज, हैदराबाद के सहयोग से जनेकृविवि प्रदेश के दो जिलों बालाघाट व मंडला में यह परियोजना लागू करेगा। क्या है प्रो साइल परियोजना उल्लेखनीय है कि प्रति सप्ताह कृषकों को कृषि वैज्ञानिकों द्वारा मोबाइल संदेश के माध्यम से बारिश की संभावना, फसलों में कीड़ों से बचाव की जानकारी दी जाती रही। इसमें प्रमुख रूप से समस्या यह आ रही थी कि सही फसल लगाने वाले किसान को सही जानकारी नहीं मिल पाती थी। इस परियोजना से किसानों को सही जानकारी मिल पाएगी।

किया जाएगा रजिस्ट्रेशन

प्रायोगिक तौर पर विवि द्वारा प्रदेश के 2 जिलों में यह परियोजना शुरू हो रही है। इसमें किसानों का रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। इसके बाद प्रो साइल परियोजना के तहत किसानों को एप से जोड़ा जाएगा। मैदानी क्षेत्र में कार्य करने के लिए एनजीओ की मदद ली जाएगी। एनजीओ के सदस्य कृषि विशेषज्ञों से प्रशिक्षण लेकर वास्तविक जानकारी उपलब्ध कराएंगे। इसके अलावा जो किसान जिस अनाज की खेती कर रहा है, उसे उसी के रखरखाव, उत्पादन बढ़ाने व अन्य तकनीकी जानकारी मिल सकेगी। इसके लिए कृषि वैज्ञानिकों को सूचना प्रौद्योगिकी में भी पारंगत किया जाएगा।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.