23-11-2017 10:09:pm
फिटनेस सेंटर के लिए कॉमन रोड बनाया, लगेगा जाम || करीना ने ठुकराया टीवी पर जज बनने का आॅफर  || कपिल की फिल्म ‘फिरंगी’ का प्रदर्शन एक दिसंबर तक टला || जेएएच को देखकर बोले कलेक्टर: यहां के हालात तो बेहद खराब हैं, ऐसे नहीं चलेगा || पद्मावती के निर्माता भंसाली के खिलाफ परिवाद दाखिल || जयगुरुदेव के भक्त कसम खाएंगे शराब नहीं पीने की  || अमेरिकी नौसेना का प्लेन क्रैश, 8 को बचाया || चीन में हुई गोलीबारी 3 की मौत, 6 घायल || 10 माह बाद रिहा होगा हाफिज  || वॉशिंगटन से अच्छी सड़कें हैं तो एक बार शनिचरा मार्ग की सड़कें भी देख लें  || सहेली की जान बचाने शहीद हुई थी वीरांगना  || सीएमएचओ के ड्राइवर और कंपाउंडर में पैसों के लेनदेन पर चले जूते-चप्पल || क्रेशर बस्ती में 362 आवास बनने का रास्ता हुआ साफ || मतदाताओं को मिलेगा यूनिक वोटर आईडी नंबर || मिलेनियम वोटर भी डालेंगे अगले चुनावों में वोट || सरकारी आवासों संबंधी मामले में मांगा जवाब || छोटों पर सितम, बड़ों पर रहम:श्रीवास || भालू की दहशत से घरों में दुबके लोग || बिना हैलमेट पुलिस वालों की थानों में दर्ज नहीं होगी आमद || घंटाघर में कबाड़ी के नौकर से जब्त किए साढेÞ पांच लाख || व्हीएफजे को मिला 750 एलपीटीए का काम || जेल बदलने भूख हड़ताल पर बैठा कैदी || सिर कुचलकर हम्माल की हत्या || फिर सिरफिरों ने किया उत्पात चार गाड़ियों के कांच फोड़े || निगम अधिकारियों ने चौपाटी कारोबारियों के सामने रखी शर्तें  || चेक का क्लोन बनाने वाला पकड़ा  || जेयू के प्रोफेसर अपना दायित्व अच्छे से निभा रहे हैं: प्रो. शुक्ला  || कांग्रेसी मियाद पर हिंदू महासभा ने कहा र्इंट का जवाब पत्थर से देंगे  || स्वच्छता के साथ ही ग्रामीणों को मिलेगा रोजगार  || बहन के घर से भाग जाने पर दुखी भाई ने लगा ली फांसी  || मकान तोड़ने से गुरेज नहीं, सड़क बने बेहतरीन  || सुधारे जाएं सफाई कर्मचारियों के आवास  || गाय से नहीं, 'चारा खाने वालों' से लगता है डर || लापरवाह अफसरों को थमाएंगे नोटिस  || सनी लियोन के साथ काम करना चाहते हैं अरबाज  || कश्मीर घाटी के तापमान में गिरावट || बढ़ रहे चाइल्ड केयर पिता ||

जौरा। मानव की दूसरों के सुख से दुखी होने की प्रवृत्ति मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण है, इसलिए मनुष्य को दूसरों के सुख में सुख का अनुभव करना चाहिए। यह बात मनकामेश्वर महादेव मंदिर पर चल रही संगीतमय रामकथा में मानस मर्मज्ञ राजेश्वरानंद जी ने श्रोताओं को प्रबोधित किया। इस दौरान आचार्य ने भगवान श्रीराम के जीवन के कई पहलुओं का वर्णन प्रभावी दृष्टांतों के माध्यम से किया। रामकथा के तीसरे दिन भारी संख्या में श्रोता रामकथा सुनने के लिए पहुंचे। उल्लेखनीय है कि मनकामेश्वर परमार्थ लोक न्यास द्वारा प्राचीन मनकामेश्वर महादेव मंदिर पर संगीतमय श्रीराम कथा का आयोजन किया जा रहा है। रामकथा में ख्यात संत एवं मानस मर्मज्ञ स्वामी राजेश्वरानंद द्वारा अपनी प्रभावपूर्ण शैली में भगवान श्रीराम के चरित्र का वर्णन किया जा रहा है। रामकथा में स्वामी ने राम विवाह के वृतांत सहित उनके राज्याभिषेक की तैयारियों का वर्णन अपनी विनोद पूर्ण शैली में किया। उन्होंने कहा व्यक्ति के मन में भी सुमति एवं कुमति एक साथ निवास करतीं हैं। जब व्यक्ति के मन में कुमति प्रभावी होती है तो परिवार में क्लेश, दुख एवं परेशानियों का आगमन होता है,जबकि सुमति के प्रभावी होने से परिवार में सुख, शांति एवं समृद्धि का वास होता है। आचार्य श्री ने अपने उद्बोधन में कहा कि व्यक्ति को अपने मन में बसी कुमति को कभी हावी नहीं होने देना चाहिए। उसे जब भी एसा प्रतीत हो कि अब मेरी मनोवृत्ति में कुमति का प्रभाव बढ़ रहा है तो उसे भगवत का चिंतन करना चाहिए।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.