22-11-2017 07:27:am
निगम अधिकारियों ने चौपाटी कारोबारियों के सामने रखी शर्तें  || चेक का क्लोन बनाने वाला पकड़ा  || जेयू के प्रोफेसर अपना दायित्व अच्छे से निभा रहे हैं: प्रो. शुक्ला  || कांग्रेसी मियाद पर हिंदू महासभा ने कहा र्इंट का जवाब पत्थर से देंगे  || स्वच्छता के साथ ही ग्रामीणों को मिलेगा रोजगार  || बहन के घर से भाग जाने पर दुखी भाई ने लगा ली फांसी  || मकान तोड़ने से गुरेज नहीं, सड़क बने बेहतरीन  || सुधारे जाएं सफाई कर्मचारियों के आवास  || गाय से नहीं, 'चारा खाने वालों' से लगता है डर || लापरवाह अफसरों को थमाएंगे नोटिस  || सनी लियोन के साथ काम करना चाहते हैं अरबाज  || कश्मीर घाटी के तापमान में गिरावट || बढ़ रहे चाइल्ड केयर पिता || टीवी धारावाहिकों एवं फिल्मों की अभिनेत्री रीता कोइराल का निधन ||

ग्वालियर। अंचल के सबसे बड़े जयारोग्य अस्पताल में यूं तो अव्यवस्थाओं की लंबी फेहरिश्त है, लेकिन यहां पीएम हाउस पर पेयजल के बंदोबस्त न होने के कारण एक युवक की तबियत बिगड़ गई और वह बेहोश हो गया, जब पानी की जरूरत महसूस हुई तो पहले ही गमजदा साथ आए लोगों ने यहां वहां तलाशा, लेकिन उन्हें पानी कहीं नहीं मिला, ऐसे में बाहर से पाउच मंगाने पड़े, लेकिन इससे पहले युवक की हालत देखकर यहां रहनेवाले एक सफाई कर्मचारी के घर से पानी लेकर उसे पिलाना पड़ा, तब जाकर वह होश में आया। उल्लेखनीय है कि इस बड़े अस्पताल में जहां दवा और उपचार के लिए मरीज परेशान होते रहते हैं, वहीं यहां पेयजल तक के माकूल बंदोबस्त नहीं हैं, असपताल के आसपास तो पानी मिल भी जाए, लेकिन बेहद गंभीर और संवेदनशील मामला यह है कि अंचलभर के शव यहीं पोस्ट मार्टम के लिए लाए जाते हैं, इसके बावजूद भी पोस्टमार्टम हाउस पर पेयजल की कोई व्यवस्था नहीं है। जिसके चलते शव के साथ आने वालों को या तो प्यासे रहकर ही वक्त गुजारना पड़ता है, या फिर यहां से काफी दूर केआरएच में बनी पानी की टंकी या फिर बाजार से पाउच या बोतल लेन के लिए मजबूर होना पड़ता है। इससे साफ हो जाता है कि अस्पताल की अन्य व्यवस्थाएं कैसी होंगी, वह भी तब जबकि संभागायुक्त हर सप्ताह जेएएच के हालात सुधारने के लिए मेडीकल कॉलेज पहुंचकर यहां के डीन, अधीक्षक और विभागाध्यक्षों की क्लास लेते हैं। इस तरह से लोगों के बेहाल होने के हालात इस मौसम में बन रहे हैं, तब भीषण गर्मी के समय उन्हें किस तरह से परेशान होना पड़ता होगा।

एक हैंडपंप वह भी वर्षों से खराब पड़ा है

पीएम हाउस के बाहर एक हैंडपंप जरूर लगा है, लेकिन इसने कई सालों से पानी नहीं उगला है, न ही प्रबंधन ने इसे कभी दुरस्त कराने का ही सोचा है, पहले एक पानी की टंकी बनी थी, परंतु अब वह भी यहां नहीं है।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
अयोध्या में बने मंदिर और लखनऊ में मस्जिद  || अपनी लाइफ को बोरिंग मानते हैं इरफान खान  || सोनिया के आरोप पर जेटली का पलटवार || ज्यूरी में राहुल रवैल ने ली सुजॉय घोष की जगह  || अनुकंपा नियुक्ति को लेकर कोर्ट में दायर मामला खारिज  || फिर से निर्देशन के क्षेत्र में लौट सकते हैं विशेष भट्ट || जर्मनी में सियासी संकट गहराया || जिले में सीमांकन, नामांकन एवं डायवर्सन कराना अब भी टेढ़ी खीर!  || पार्टी ने मुगाबे को किया बर्खास्त || झांसा देकर महिलाओं को ठगने वाला पकड़ा || पाक महिला को वीजा देने के लिए कहा सुषमा ने || इंदिरा गांधी ने बढ़ाया देश का मान : शर्मा || मां पद्मावती का अपमान बर्दाश्त नहीं: सिकरवार || द.अफ्रीका में भारतीय राजनयिक के घर डकैती का प्रयास  || जब तक वेतन नहीं तब तक काम नहीं || अपने ही देश में बताना पड़ रहा संस्कृत भाषा का महत्व : भोपे  ||
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.