24-06-2018 10:36:pm
नेटफ्लिक्स के सीसीओ को नौकरी से निकाला  || सुषमा स्वराज ने बेल्जियम के डिप्टी पीएम से की भेंट || एमयू का कद घटाने बनाया दबाव || अमेरिका के वैज्ञानिकों ने तैयार किया दुनिया का सबसे छोटा कम्प्यूटर || एयर इंडिया के सर्वर में खराबी से 23 उड़ानों में देरी  || अमेरिका से भारत खरीदेगा 1,000 नागरिक विमान || वॉट्सएप की सेवा शर्तों और गोपनीयता नीति में बदलाव || मोदी सरकार के कार्यकाल के दौरान कई बैकिंग धोखाधड़ी के मामले सामने आए  || नॉकआउट में जगह बनाने के लिए मेसी एंड कंपनी ने जमकर बहाया पसीना || माल्या के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी  || ट्रंप के होटल का शराब लाइसेंस रद्द करने की मांग- ||

भोपाल  । पटवारी भर्ती परीक्षा -2017 में भोपाल जिले के लिए चुनकर आए 179 पटवारियों को छह माह की ट्रेनिंग देने में जिला प्रशासन के अधिकारियों को पसीना आ रहा है। ट्रेनिंग के लिए न तो प्रशासन के पास अच्छा संस्थान है और न ही टेबल-कुर्सियां। ऐसे में जुगाड़ के फर्नीचर और स्कूल से पटवारियों को ट्रेनिंग देने की तैयारी की जा रही है। करीब 20 सरकारी स्कूलों और गैस राहत विभाग के कार्यालय से 10-10 बेंच और कुर्सियां जुटाई गई हैं। इन्हें कोलार स्थित श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्कूल में भिजवाया गया है। इस स्कूल में केवल एक हॉल है, जिसमें यह टेबल-कुर्सियां लगाई जाएंगी, जिन पर बैठकर भावी पटवारी छह माह तक ट्रेनिंग लेंगे। खास तो यह है कि जिस स्कूल के हॉल में ट्रेनिंग दी जाएगी, वह भी प्रशासन ने मुμत में मांगा है। चयनित पटवारियों के रहने-खाने का इंतजाम भी जुगाड़ से ही किया जा रहा है। टेनिंग के दौरान वेतन के रूप में जो राशि दी जाएगी, उसमें से ही इसका खर्च वसूला जाएगा।

किसी भी स्कूल या कॉलेज ने पूरा फर्नीचर देने से किया मना

भू-अभिलेख के अधिकारियों ने प्रशिक्षण सेंटर बनाने के लिए सरकारी स्कूल- कॉलेजों में जगह की तलाश की। स्थिति यह बनी कि कुछ स्कूल और कॉलेजों ने जगह तो दे दी, लेकिन फर्नीचर का उपयोग करने से मना कर दिया। उनका कहना था कि छह माह तक फर्नीचर दे दिया तो स्टूडेंट्स के लिए फर्नीचर का इंतजाम कहां से करेंगे। श्याम प्रसाद मुखर्जी स्कूल को इसलिए चुना गया, क्योंकि यहां से कम्प्यूटर ट्रेनिंग सेंटर पास में है और पटवारियों को कम्प्यूटर चलाने तथा इलेक्ट्रॉनिक टोटल स्टेशन मशीन (ईटीएसएम) की ट्रेनिंग भी देना है। सूत्र बताते हैं कि पटवारियों के ट्रेनिंग के लिए भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त विभाग, ग्वालियर राशि खर्च नहीं कर रहा है। वह पटवारियों को जो वेतन दे रहा है, उसमें से ही व्यवस्थाएं कराना चाहता है। ऐसे में जिलों के अधिकारी परेशान हैं।

23 को होगा दस्तावेजों का सत्यापन

भोपाल जिले के लिए चुने गए 179 पटवारियों के दस्तावेजों का सत्यापन 23 जून को स्कूल परिसर में ही होगा। पटवारियों को दस्तावेजों का सत्यापन कराने के लिए स्नातक उपाधि की मान्यता प्राप्त डिग्री, आयु प्रमाण-पत्र, जन्म प्रमाण-पत्र, दसवीं की मार्कशीट, मूल निवासी एवं जाति प्रमाण-पत्र की मूल प्रति लेकर उपस्थित होना पड़ेगा। जो प्रशिक्षणार्थी नि:शक्त हैं, वे अपने साथ नि:शक्त होने का प्रमाण पत्र, भूतपूर्व सैनिक का लड़का या लड़की हैं, तो उसके प्रमाण-पत्र के अलावा निर्धारित प्रारूप में नोटरी द्वारा सत्यापित शपथ पत्र भी प्रस्तुत करना होगा।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
पीतांबरा पीठ से निकलते ही यमुना प्राधिकरण के पूर्व सीईओ गिरफ्तार || डेढ़ साल की मासूम का किया अपहरण, बेचने की थी कोशिश || सतना में डकैत को तलाशने गई पुलिस पार्टी का 1 जवान लापता || जालसाज पायल सैम्युअल पर गोविंदपुरा थाने में भी केस || न एईओ नियुक्त हुए और न सरकारी स्कूलों की दशा सुधरी || सालों 18 किलोमीटर पैदल किया सफर, बन गई जेलर || 4,000 सफाई कर्मियों को ले गए इंदौर इधर, शहर में न झाड़ू लगी न कचरा उठा || प्रीमियम ट्रेनों के पहले नहीं चलेंगी सुपरफास्ट ट्रेनें || 47 वार्डों में 540 लोगों को कराया गृह प्रवेश || स्वच्छता सर्वेक्षण में ग्वालियर का 28 वां स्थान, अवार्ड गंवाया || काउंसलिंग में पहुंचे 129 प्रतिभागी, मिले ट्रेनिंग लेटर || परिवारिक विवादों की सुनवाई परामर्शदाता करेंगे || अजिता वाजपेयी पांडेय पहुंचीं कांग्रेस दफ़तर  || सदन में अपनी ही सरकार को फिर घेरने को तैयार गौर || पिता की अस्थियां घर के गार्डन में गाड़कर लगा दिए पौधे, ताकि पिता का अहसास हमेशा के लिए जिंदा रहे || वरिष्ठ कांग्रेसियों से जमीनी हकीकत जानेंगे : कमलनाथ् || बताओ न्यायालय के आदेश की नाफरमानी क्यों? || 1750 परिवारों ने किया गृह प्रवेश || जिरह में ठीक से जवाब नहीं दे पाई रेप पीड़िता, दुखी होकर लगा ली फांसी || मल्टीलेवल पार्किंग में अब तक नहीं लगी लिफ्ट , फायर सिस्टम भी अधूरा || पीजी की 67 हजार 500 सीटों का आवंटन आज ||
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.