20-07-2018 10:05:pm
घाटी में जाकिर के पीस टीवी समेत 30 चैनल बैन  || मोटे अफसरों को दिया फिटनेस प्रमाण पत्र, तो डॉक्टरों पर हो सकती है कार्रवाई || मिग क्रैश होने से पहले आबादी से दूर ले गए पायलट, मौत  || सिंगर हंसराज हंस बने आध्यात्मिक गुरू || सार्वजनिक स्थलों पर मिले स्तनपान सुविधा : हाईकोर्ट || स्मार्टफोन से बढ़ सकता है एडीएचडी का खतरा || त्यागी समेत 34 के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल  || बृहस्पति के 10 नए ‘चंद्रमा’ खोजे गए || मोदी सरकार के खिलाफ चार साल में पहली बार अविश्वास || तुर्की में 24 माह बाद खत्म हुआ आपातकाल || भारतवंशी सालाना 100 करोड़ डॉलर करते हैं दान || रणजी में उतरेंगी बिहार सहित नौ नई टीमें  || पाकिस्तान की एकतरफा जीत  || हंगामे से हर घंटे 1.5करोड़ रु. की चपत || जजों की रिटायरमेंट उम्र 2 साल बढ़ा सकती है सरकार  || 20 मील पैदल चलकर पहुंचा आॅफिस, बॉस ने गिफ्ट की कार ||

भोपाल भारत निर्वाचन आयोग के उप चुनाव आयुक्त चंद्रभूषण कुमार, संदीप सक्सेना और संचालक आईटी वीएन शुक्ला ने सोमवार को दो बैठकों में प्रदेश के विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा की। इस अवसर पर उन्होंने चुनाव संचालन के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि तकनीक पर बेहतर काम की जरूरत है। उन्होंने बताया कि सी विजुअल एप लॉन्च किया जाएगा जिससे पब्लिक भी नए आइडिया शेयर कर सकेगी। इस एप पर लोग शिकायत भी कर सकेंगे और उनका निराकरण भी जल्द होगा। इसके साथ ही ईआरओ नेट का सेकंड वर्जन बहुत सारी समस्याओं का समाधान कर देगा। सीईओ सलीना सिंह ने आश्वस्त किया कि निर्वाचन कार्य की महत्ता को देखते हुए उनकी पूरी टीम गंभीरता और ईमानदारी से कार्य करेगी।

चुनाव का काम चुनौतीपूर्ण पर मुश्किल नहीं : सक्सेना

निर्वाचन कार्यालय में हुई बैठक में उप चुनाव आयुक्त संदीप सक्सेना ने कहा कि निर्वाचन कार्य में अधिकारियों तथा उनकी टीम द्वारा अतिरिक्त सजगता और सतर्कता बेहद जरूरी है। चुनाव को बिना किसी व्यवधान के सम्पन्न करवाना चुनौतीपूर्ण तो है लेकिन मुश्किल कतई नहीं है।

लापरवाही की तो दोबारा चुनाव के हालात : कुमार

चन्द्रभूषण कुमार ने बताया कि आयोग ने 200 बिन्दुओं को लेकर इलेक्शन रिस्क मैन्युअल बनाया है। इनमे से 27 से 30 ऐसे हैं, जिनको नजरअंदाज अथवा लापरवाही करने से दोबारा चुनाव की स्थिति निर्मित हो सकती है, इसलिए इसका बारीकी से अध्ययन और पालन किया जाए।

कलेक्टरों को टिप्स

* अनुभव ही नहीं, बल्कि अध्ययन भी काम आएगा।

* आयोग द्वारा जारी निदेर्शों की संख्या भी अधिक है, जिसके अध्ययन के लिये मात्र 4 माह बचे हैं।

* जितना अच्छा अध्ययन होगा, उतना ही सरल चुनाव होगा।

* आयोग की गाइडलाइन से अपडेट रहना होगा।

* बीएलओ की रिपोर्ट के बाद वे सुनिश्चित कर लें कि एक-एक घर में वोटर सर्वेक्षण/सत्यापन हुआ या नहीं।

* वोटर आईडी में फोटो की क्वालिटी भी ठीक होना चाहिए।

* समन्वय के लिए सोशल मीडिया वाट्सएप पर समूह बनाएं।

 ये निर्देश दिए

* निर्वाचन कार्य में संलग्न 3 साल से एक ही स्थान पर पदस्थ अधिकारी- कर्मचारियों का स्थानांतरण 15 जुलाई तक अनिवार्य रूप से कर लिया जाए।

* एआरओ और सीईओ कार्यालय के जिन पदों की पूर्ति नहीं हुई है, उन्हें भी शीघ्र किया जाए।

* मतदान-केन्द्रों का युक्ति-युक्तकरण इस माह के अंत तक हो जाए।

* यह ध्यान रखा जाए कि मतदान केंद्र ग्राउंड फ्लोर पर ही हो

* मतदाताओं को प्रेरित करने के लिए थीम, लोगो अथवा स्लोगन भी तैयार किए जाएं।

* निर्वाचन से जुड़े विषयों के मास्टरट्रे नर का सहयोग लिया जाए।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
टीले पर फंसा परिवार, सेना का हेलिकॉप्टर भी मदद में नाकाम  || केरवा कोठी पर सुनवाई आज, अजय सिंह पर मां ने लगाए थे आरोप  || 3 साल की योजना से केंद्र ने 1 साल में हाथ खींचे  || प्रदर्शन कर शिक्षको ने जताई नाराजगी || शिवराज को आशीर्वाद मांगने का कोई हक नहीं || मंत्री पवैया के लोकार्पण करने के 37 दिन बाद भी आवासों का आवंटन नहीं || एमएससी बॉटनी की मार्कशीट दो साल बाद भी नहीं आर्इं || मप्र को भी अब बड़े पैमाने पर मिल रहे हैं मैडल: यशोधरा || 20 से ट्रांसपोर्टर्स की स्ट्राइक, सब्जी, किराने की होगी किल्लत || एटीएम से बैटरी व एसी चुराने वाले गिरफ्तार || बैंक में चली गोली, गनमैन व गार्ड घायल || फरार भू-माफिया शेख इस्माइल गिरफ्तार || व्यापारी के साथ सरेराह एक लाख रुपए की लूट || अनिश्चितकालीन हड़ताल पर 23 से जाएंगे जूनियर डॉक्टर्स  || मप्र में पहली बार इंदौर में लगेंगे रेडियो फ्रिक्वेंसी स्मार्ट मीटर ||
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.