20-07-2018 09:44:pm
घाटी में जाकिर के पीस टीवी समेत 30 चैनल बैन  || मोटे अफसरों को दिया फिटनेस प्रमाण पत्र, तो डॉक्टरों पर हो सकती है कार्रवाई || मिग क्रैश होने से पहले आबादी से दूर ले गए पायलट, मौत  || सिंगर हंसराज हंस बने आध्यात्मिक गुरू || सार्वजनिक स्थलों पर मिले स्तनपान सुविधा : हाईकोर्ट || स्मार्टफोन से बढ़ सकता है एडीएचडी का खतरा || त्यागी समेत 34 के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल  || बृहस्पति के 10 नए ‘चंद्रमा’ खोजे गए || मोदी सरकार के खिलाफ चार साल में पहली बार अविश्वास || तुर्की में 24 माह बाद खत्म हुआ आपातकाल || भारतवंशी सालाना 100 करोड़ डॉलर करते हैं दान || रणजी में उतरेंगी बिहार सहित नौ नई टीमें  || पाकिस्तान की एकतरफा जीत  || हंगामे से हर घंटे 1.5करोड़ रु. की चपत || जजों की रिटायरमेंट उम्र 2 साल बढ़ा सकती है सरकार  || 20 मील पैदल चलकर पहुंचा आॅफिस, बॉस ने गिफ्ट की कार ||

भोपाल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने सोमवार को पार्टी के पूर्व सांसदों व विधायकों की बैठक बुलाई थी। बैठक में शामिल होने आर्इं मंदसौर की पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन चुपचाप दूसरी कतार की एक खाली कुर्सी में बैंठ गर्इं। बैठक शुरु होने के कुछ देर बाद कमलनाथ की निगाह उन पर पड़ी तो उन्होंने मीनाक्षी को मंच पर आमंत्रित किया। लेकिन वे मंच पर आने के वजाय बैठक से ही बाहर चली गर्इं। जब वे कुर्सी से उठकर मंच पर जाने के बजाय दरवाजे की तरफ मुड़ी तो कमलनाथ ने उन्हें दोबारा मंच पर आने का अनुरोध किया, लेकिन उन्होंने पलटकर भी नहीं देखा और बिना जवाब दिए बाहर आ गर्इं। पूर्व सांसद के इस रवैये से साफ हो गया कि प्रदेश कांग्रेस की नई टीम के गठन के बाद से गुटबाजी तेज हो गई है। इसकी शुरुआत विधानसभा चुनाव के लिए पिछले दिनों पांच कमेटियों के गठन से हुई थी। जिसमें मीनाक्षी के राजनैतिक प्रतिद्वंदी राजेंद्र गौतम को इसमें महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई। गौतम को यह ओहदा देना मीनाक्षी कैसे बर्दाश्त करतीं? क्योंकि गौतम ने उनके खिलाफ चुनाव लड़ा था। इतना ही नहीं, उनके दूसरे विरोधी मुकेश काला को संगठन में पदाधिकारी बना दिया गया। इस घटनाक्रम के बाद नटराजन ने अपने इस्तीफे की पेशकश कर दी थी। उनके समर्थकों ने तो इस्तीफा दे भी दिया था। प्रदेश अध्यक्ष ने दावा किया था कि मीनाक्षी की नाराजगी को दूर कर दिया गया है, लेकिन इस बैठक में यह सार्वजनिक हो गया कि वे प्रदेश संगठन की कार्यप्रणाली से खुश नहीं हैं। हालांकि उन्हें बाहर आने के बाद मीडिया से कहा कि उनका दूसरी बैठक में जाना इस बैठक से ज्यादा जरुरी हैं। इसके लिए उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष से अनुमति ले ली है।

इसलिए नाराज हैं नटराजन

पार्टी सूत्रों का कहना है कि नटराजन इसलिए भी नाराज हैं,क्योंकि हाल ही में कमलनाथ द्वारा गठित प्रदेश कार्यकारिणी में महिला सदस्यों की संख्या कम रखी गई है और इस बारे में भी नटराजन से कोई सलाह नहीं ली गई।

... 25 मिनट में खत्म हो गई बैठक

पूर्व सांसदों व विधायकों को कहा गया था कि चुनाव के संबंध में वे अपने सुझाव भी लेकर आएं, जिस पर बैठक में चर्चा होगी। लेकिन बैठक शुरु होने के बाद हरिवल्लभ शुक्ला सहित तीन नेता सुझाव दे पाए। इस बीच कमलनाथ ने उन्हें यह कहते हुए रोक दिया कि समय कम है। करीब 25 मिनट में ही बैठक खत्म हो गई।

प्रेमचंद गुड्डू का अघोषित बहिष्कार

सोमवार को हुई इस बैठक में पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू नहीं आए। वे प्रदेश नेतृत्व की कार्य पद्धति का पहले से अघोषित बहिष्कार करते आए हैं। उनके बैठक में नहीं आने की यही वजह है। हालांकि बैठक में पहुंचे कुछ सांसदों ने पार्टी के लिए काम करने का उत्साह दिखाया। पूर्व सांसद भगवत शरण ने कहा है कि भले ही हम चुनाव जीत नहीं सकते लेकिन अपनी पार्टी के उम्मीदवार को जिताने का माद्दा तो रखते हैं। गौरतलब है कि पीसीसी अध्यक्ष नाथ ने भी कहा है कि पार्टी सभी वरिष्ठजनों का अनुभव का लाभ और मार्गदर्शन जरूर लेगी।

कमलनाथ की सलाह : यह कड़वे घूंट पीने का समय

बैठक में कमलनाथ ने नेताओं को इस समय कड़वे घूंट पीने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि अगले चार महीने सब कुछ भूल जाएं और बिना किसी निर्देश का इंतजार किए पार्टी को जिताने के लिए जुट जाएं। चूंकि आप लोग अनुभवी हैं और स्थानीय राजनैतिक समीकरणों को अच्छी तरह समझते हैं। एक-दूसरे की गलतियों को माफ कर नया रास्ता खोजना आपका काम है। यदि यह काम कर लिया तो विधानसभा चुनाव के बाद प्रदेश में कांग्रेस का झंडा लहराएगा।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
टीले पर फंसा परिवार, सेना का हेलिकॉप्टर भी मदद में नाकाम  || केरवा कोठी पर सुनवाई आज, अजय सिंह पर मां ने लगाए थे आरोप  || 3 साल की योजना से केंद्र ने 1 साल में हाथ खींचे  || प्रदर्शन कर शिक्षको ने जताई नाराजगी || शिवराज को आशीर्वाद मांगने का कोई हक नहीं || मंत्री पवैया के लोकार्पण करने के 37 दिन बाद भी आवासों का आवंटन नहीं || एमएससी बॉटनी की मार्कशीट दो साल बाद भी नहीं आर्इं || मप्र को भी अब बड़े पैमाने पर मिल रहे हैं मैडल: यशोधरा || 20 से ट्रांसपोर्टर्स की स्ट्राइक, सब्जी, किराने की होगी किल्लत || एटीएम से बैटरी व एसी चुराने वाले गिरफ्तार || बैंक में चली गोली, गनमैन व गार्ड घायल || फरार भू-माफिया शेख इस्माइल गिरफ्तार || व्यापारी के साथ सरेराह एक लाख रुपए की लूट || अनिश्चितकालीन हड़ताल पर 23 से जाएंगे जूनियर डॉक्टर्स  || मप्र में पहली बार इंदौर में लगेंगे रेडियो फ्रिक्वेंसी स्मार्ट मीटर ||
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.