20-07-2018 10:01:pm
घाटी में जाकिर के पीस टीवी समेत 30 चैनल बैन  || मोटे अफसरों को दिया फिटनेस प्रमाण पत्र, तो डॉक्टरों पर हो सकती है कार्रवाई || मिग क्रैश होने से पहले आबादी से दूर ले गए पायलट, मौत  || सिंगर हंसराज हंस बने आध्यात्मिक गुरू || सार्वजनिक स्थलों पर मिले स्तनपान सुविधा : हाईकोर्ट || स्मार्टफोन से बढ़ सकता है एडीएचडी का खतरा || त्यागी समेत 34 के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल  || बृहस्पति के 10 नए ‘चंद्रमा’ खोजे गए || मोदी सरकार के खिलाफ चार साल में पहली बार अविश्वास || तुर्की में 24 माह बाद खत्म हुआ आपातकाल || भारतवंशी सालाना 100 करोड़ डॉलर करते हैं दान || रणजी में उतरेंगी बिहार सहित नौ नई टीमें  || पाकिस्तान की एकतरफा जीत  || हंगामे से हर घंटे 1.5करोड़ रु. की चपत || जजों की रिटायरमेंट उम्र 2 साल बढ़ा सकती है सरकार  || 20 मील पैदल चलकर पहुंचा आॅफिस, बॉस ने गिफ्ट की कार ||

महू। न ही स्थायी बिजली, न ही पानी, जगहज गह गंदगी के ढेर, न ही गार्डन... जैसी मूलभूत सुविधाओं से वंचित रायल रेसीडेंसी कॉलोनी के रहवासी अपनी मूलभूत मांगों को लेकर आंदोलनरत हैं। रहवासियों की प्रमुख मांग स्थायी बिजली कनेक्शन है, जो की दशकभर बाद भी रहवासियों को नहीं मिल सका है। कॉलोनाइजर द्वारा जहां एक ओर अस्थायी बिजली बिलों के नाम पर पर्ची जारी कर प्रतिमाह खपत से अत्यधिक राशि वसूली जा रही है तो वहीं कॉलोनी के मेंटेनेंस खर्च के नाम पर भी मोटी रकम रहवासियों से वसूली जा रही है, जबकि कॉलोनी मेंटेनेंस के नाम पर जीरो है। मेंटेनेंस के नाम पर कॉलोनी के किसी घर से 500 रुपए तो किसी घर से 700 रुपए की वसूली प्रतिमाह कॉलोनी की मेंटेनेंस टीम द्वारा वसूली जा रही है, जबकि कॉलोनी मेंटनेंस के नाम पर जीरो है। कॉलोनी में पानी तक की पर्याप्त सुविधा नहीं है, न ही कॉलोनी के गार्डनों का निर्माण हुआ है। जगह-जगह गंदगी के ढेर आम बात होकर रह गई है। इधर, ड्रेनेज लाइन के अधिकांश चेम्बर खुले ही पड़े हुए हैं, जो रात्रि में हादसों को न्योता दे रहे हंै। भूमाफिया के खिलाफ आंदोलन जारी रायल रेसीडेंसी के रहवासी महेश ओझा, बबलू राठौर, अमित वाजपेयी, दिनेश विश्वकर्मा, अजय सिंह एवं सुभद्रा वर्मा सहित महिलाओं ने बताया कि कॉलोनाइजर राकेश अग्रवाल द्वारा हमारे साथ धोखाधड़ी की गई है, स्थायी बिजली कनेक्शन का कहकर कॉलोनाइजर ने अस्थायी बिजली कनेक्शन कॉलोनी में दे रखे हैं। बताया जाता है कई वर्षों पूर्व भी रहवासियों ने स्थायी बिजली कनेक्शन की मांग राकेश अग्रवाल से की गई थी, परंतु तब अग्रवाल ने दबाव प्रभाव से रहवासियों की मांग को दबा दिया था, लेकिन अब रहवासी खुलकर भूमाफिया अग्रवाल के खिलाफ आंदोलनरत हैं। पीड़ित लोगों ने बताया कि दो दिन पूर्व कॉलोनाइजर के पुत्र अक्षय अग्रवाल एवं उनके अंगरक्षकों द्वारा रहवासियों को दी गई धमकी एवं मंगलवार को कॉलोनाइजर राकेश अग्रवाल द्वारा दबाव प्रभाव दिखाते हुए आंदोलन का प्रतिनिधित्व कर रहे रहवासियों को झूठे केसों में फंसाने की धमकी के साथ ही कॉलोनाइजर द्वारा रहवासियों के साथ की गई धोखाधड़ी को लेकर कॉलोनी के रहवासी इंदौर डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र से मिलकर तत्काल प्रभाव से कार्रवाई करने की मांग करेंगे, साथ ही स्थानीय किशनगंज थाने द्वारा आवेदन लेने के बावजूद प्रकरण दर्ज करने में की जा रही देरी को लेकर भूमाफिया और पुलिस के बीच बने तालमेल की शिकायत भी करेंगे। कॉलोनाइजर द्वारा रहवासियों के साथ की गई धोखाधड़ी की शिकायत इंदौर कलेक्टर से करेंगे, साथ ही उनसे विभागीय कार्रवाई की मांग भी करेंगे।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
टीले पर फंसा परिवार, सेना का हेलिकॉप्टर भी मदद में नाकाम  || केरवा कोठी पर सुनवाई आज, अजय सिंह पर मां ने लगाए थे आरोप  || 3 साल की योजना से केंद्र ने 1 साल में हाथ खींचे  || प्रदर्शन कर शिक्षको ने जताई नाराजगी || शिवराज को आशीर्वाद मांगने का कोई हक नहीं || मंत्री पवैया के लोकार्पण करने के 37 दिन बाद भी आवासों का आवंटन नहीं || एमएससी बॉटनी की मार्कशीट दो साल बाद भी नहीं आर्इं || मप्र को भी अब बड़े पैमाने पर मिल रहे हैं मैडल: यशोधरा || 20 से ट्रांसपोर्टर्स की स्ट्राइक, सब्जी, किराने की होगी किल्लत || एटीएम से बैटरी व एसी चुराने वाले गिरफ्तार || बैंक में चली गोली, गनमैन व गार्ड घायल || फरार भू-माफिया शेख इस्माइल गिरफ्तार || व्यापारी के साथ सरेराह एक लाख रुपए की लूट || अनिश्चितकालीन हड़ताल पर 23 से जाएंगे जूनियर डॉक्टर्स  || मप्र में पहली बार इंदौर में लगेंगे रेडियो फ्रिक्वेंसी स्मार्ट मीटर ||
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.