22-09-2018 04:41:am
नहीं है जया की रिकॉर्डिंग 1 माह में हो जाती है डिलीट  || जोगी ने मिलाया मायावती से हाथ || उत्तराखंड में गाय को मिला ‘राष्ट्रमाता’ दर्जा || सागर इंटरनेशनल स्कूल की बस में तीन साल की बच्ची का उत्पीड़न || बड़ा कदम : बेटियों के गुनाहगारों की कुंडली होगी तैयार!  || मुंगेर में बिक जाते थे एके 47 के हर पार्ट || मर्सिडीज ने उतारे सी क्लास में तीन नए संस्करण || ईरान से अपनी शर्तों पर ही तेल खरीदेगा भारत  || भारत-पाक के मंत्रियों की न्यूयॉर्क में होगी बात, इमरान ने लिखा था पत्र || पीएम आबे तीसरी बार चुने गए अपनी पार्टी के अध्यक्ष || 24 घंटे में अमेरिका में दो हमले, 7 लोग हुए घायल  || गणेशजी के एड पर बवाल अमेरिका ने मांगी माफी || पाक में बुरहान वानी पर डाक टिकट जारी || ज्वालामुखी की चोटी पर किम-मून  || तकनीक से कैसे बदली रोजमर्रा की जिंदगी, बताएगा नासा || गठबंधन पर फिरा पानी, बसपा ने जारी की 22 की सूची || मोदी के फोटो की टेंपरिंग करने के मामले में केस दर्ज || डंपर घोटाला: CM शिवराज के खिलाफ दायर याचिका खारिज || भाजपा ने कहा- गोवा में पर्रिकर ही रहेंगे मुख्यमंत्री || विराट और मीराबाई बनेंगे खेल रत्न, 20 खिलाड़ियों को अर्जुन पुरस्कार || सिंधू और श्रीकांत क्वार्टर फाइनल में || भारत की परेशानी बढ़ी, हार्दिक के बाद अक्षर और शारदुल भी बाहर || अफगानिस्तान ने बांग्लादेश को दी करारी शिकस्त || केंद्र ने बढ़ाई पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि और एनएससी की ब्याज दरें || तीन तलाक का अध्यादेश मजहबी मामलों में दखल: दारूल उलूम || जम्मू-कश्मीर में मुठभेड़, सेना ने ढेर किया आतंकी || पिता के शव के पास रोती हुई बेटी का फोटो हुआ वायरल सोशल मीडिया यूजर्स ने मदद के लिए जुटाए 57 लाख रुपए || एयर प्रेशर कंट्रोल करना भूला पायलट, यात्रियों की नाक से निकला खून, यात्री ने मांगा 30 लाख रुपए मुआवजा  || अंग्रेजी से ज्यादा राष्ट्रभाषा के ट्वीट भारत में हो रहे हैं पॉपुलर || परीक्षण सफल: मोबाइल लांचर से भी दागी जा सकेगी स्वदेशी बैलिस्टिक मिसाइल || पुणे : दो बच्चियों से दुष्कर्म, 1 की मौत || एशिया कप में भारत की दबंगई के आगे पाकिस्तान ने घुटने टेके || श्रीकांत चाइना ओपन के प्री-क्वार्टर फाइनल में पहुंचे, प्रणय पराजित || स्कूल बस से उतरा पहली कक्षा का मासूम रॉन्ग साइड खड़े चाचा की ओर दौड़ा, पहिया सिर पर चढ़ा, मौत || लापता बहन के पोस्टर लेकर सड़क पर उतरे शरमन जोशी || नवाज बेटी-दामाद संग हुए रिहा || पाकिस्तानी सैनिकों ने BSF जवान का गला रेता || मलेशिया के पूर्व पीएम नजीब रज्जाक अरेस्ट || पिछले साल 50 हजार भारतीयों को मिली अमेरिकी नागरिकता || बैड कोलेस्ट्रॉल से दिल को खतरा नहीं : शोध || आलसी होने के लिए ही बना है हमारा मस्तिष्क  || गाय के नाम पर न हो लिंचिंग, कानून हाथ में लेने वालों पर हो कार्रवाई  || रुपया 61 पैसे बढ़कर 72.37 पर बंद || केरल की बाढ़ ने बढ़ाए मसालों के भाव ||

नई दिल्ली। मोबाइल दूरसंचार बाजार में उथल- पुथल मचाने वाली रिलायंस जियो के कारोबार के पहले दो साल में देश में मोबाइल इंटरनेट की दरों में तीव्र गिरावट और इसके इस्तेमाल में उल्लेखनीय विस्तार दिखा। कंपनी ने बुधवार को अपने कारोबार का दूसरा साल पूरा किया। विश्लेषणों के मुताबिक इन दो वर्षों के दौरान भारत में मोबाइल डाटा का इस्तेमाल 20 करोड़ गीगाबाइट (जीबी) से बढ़कर करीब 370 करोड़ जीबी तक पहुंच गया। इसकी मुख्य वजह मोबाइल डाटा का सस्ता होना बताया जा रहा है। जियो के आने के बाद भारत मुμत मोबाइल काल भी एक हकीकत बनी। जियो ने पहली बार असीमित मुμतकाल की सुविधा दी और प्रतिस्पर्धा के चलते बाजार में दूसरे सेवा प्रदाताओं ने भी इस तरह के प्लान पेश किया। रिलायंस जियो के आने से ठीक पहले भी एक जीबी डाटा 250 रुपए प्रति जीबी के आस- पास पड़ता था। आज यह दर 15 रुपए के आस-पास है। रिलायंस जियो के एक सूत्र ने कहा, जियो के आने के बाद डाटा बाजार में असली लोकतंत्र आया है। जियो ने आम लोगों भी अब इसका इस्तेमाल करने की स्थिति में ला दिया है। रिलायंस जियो के सूत्र ने कहा, पिछले दो साल में हमने भारत में डाटा कारोबार की विशाल संभावनाओं के द्वार खोले हैं और भारत डाटा उपभोग के मामले में शीर्ष पर आ गया है। हम अब देश के उन 50 करोड़ ग्राहकों को डिजिटल दूरसंचार परिवेश में लाने में लगे हैं जो बेसिक फोन इस्तेमाल करते हैं और अभी इंटरनेट से नहीं जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि इससे दूरदराज गांवों के लोगों को भी ई- बैंकिंग, ई-स्वास्थ्य और ई-गर्वनेंस की सेवाएं मिल सकेंगी। 

240 करोड़ जीबी डाटा यूज करते हैं ग्राहक

आंकड़ों के अनुसार देश में इस समय इस्तेमाल हो रहे 340 करोड़ जीबी डाटा में से अकेले जियो के ग्राहक ही 240 करोड़ जीबी डाटा इस्तेमाल कर रहे हैं। इस साल जून के अंत में भारत में सक्रिय मोबाइल कनेक्शनों की संख्या 1.15 अरब थी और उस समय 21.5 करोड़ उपभोक्ता जियो नेटवर्क पर ब्राडबैंड सेवाओं का इस्तेमाल कर रहे थे। देश में 2015 में भारत में 2 जी और 3जी ने एक दम से बढ़त हासिल की थी, लेकिन उस समय 4 जी को ज्यादा बड़े पैमाने पर भारतीय दूरसंचार जगत में बढ़ावा नहीं दिया था। जियो के आने से इस क्षेत्र में एक नया मोड़ था। जियो का पूरा नेटवर्क नया होने के कारण ब्राड बैंड इंटरनेट प्रोटोकल पर है। आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में 76 प्रतिशत डाटा-ट्रैफिक जियो के नेटवर्क पर था। उसके ग्राहक प्रति माह औसतन 15.4 घंटे का वीडियो का इस्तेमाल कर रहे थे। इसी दौरान इसके नेटवर्क पर प्रति माह प्रति उपभोक्ता औसतन 744 मिनट की काल की गई।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
सेंट्रिंग के अभाव में अटके डेढ़ लाख प्रधानमंत्री आवास || महिला टीचर को दोस्त के घर ले जाकर युवक ने किया बलात्कार || एक अक्टूबर से 9% तक बढ़ जाएगा स्कूल बसों का किराया || सीएम हेल्पलाइन: डीएचई से डीटीई आगे || RGPV में रैंगिंग की शिकायत करने वाला नहीं आया सामन् || परीक्षा की तारीख बताई गलत, कई छात्र शामिल होने से चूके, ईयर बैक की नौबत || मोबाइल ऐप से खरीदा टिकट नहीं कर सकेंगे ट्रांसफर || एम्स में जनरल वार्ड फुल, प्राइवेट के नहीं थे पैसे, किडनी के मरीज ने गेट पर ही दम तोड़ा || पिस्टल, कार चोरी की रिपोर्ट करने वाला एएसआई सस्पेंड || सीरियल किलर आदेश खाम्बरा ने फिर उगली एक हत्या और लूट की वारदात || स्मार्ट सिटी कंपनी के अधिकारियों ने केस दर्ज कराया, कांग्रेसियों ने घेरा थाना || महिला से रेप का आरोप, एसीपी पर दर्ज हुआ केस || कांग्रेस नेता से मारपीट बादल पर दर्ज हुआ केस  || नन रेप केस: आरोपी बिशप ने गंवाया पद  ||
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.