18-01-2019 01:24:am
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को स्वाइन फ्लू , देर रात एम्स में भर्ती || जमीन से अंतरिक्ष तक मार करने वाली घातक सेना बना रहा चीन || शीला दीक्षित के कार्यक्रम में टाइटलर को पहली पंक्ति में बिठाने पर विवाद || भाजपा को सिर्फ 2977 लोगों ने दिया 20,000 से ज्यादा चंदा || गोवा में लगा आधी आबादी पर जुर्माना  || सत्यरूप सबसे कम उम्र के भारतीय, जिन्होंने 7 पर्वत शिखर, 7 ज्वालामुखी पर्वत फतह किए  || कारवां का खुलासा: एनएसए अजित डोभाल के बेटे की कंपनी टैक्स हेवन में || उप्र के डेम के कारण 48 घंटे बाद भी मध्यप्रदेश के चार गांव जलमग्न || फेडरर लगातार 20वें साल तीसरे दौर में, नडाल भी जीते || साइना नेहवाल , पी कश्यप और किदांबी श्रीकांत दूसरे दौर में || ‘भारत को टेस्ट क्रिकेट की महाशक्ति बनाना है’  || विजयनगर थाने के पास 17 करोड़ के विवाद ने ली जान, मचा हड़कंप || अमेरिका से भारत सालाना पांच अरब डॉलर का र्इंधन खरीदेगा  || मारुति बलेनो होगी लॉन्च, बुकिंग शुरू || सुप्रीम कोर्ट में जज बने जस्टिस खन्ना और जस्टिस माहेश्वरी || अखाड़ों के शाही स्नान के साथ महाकुंभ की शुरुआत  || खड़गे ने मोदी को लिखा पत्र, कहा- राव की नियुक्ति अवैध  || ब्रेक्जिट समझौते पर 29 मार्च को होगी वोटिंग  || अब राज शाह ने छोड़ा डोनाल्ड ट्रंप का साथ ||

नई दिल्ली। सरकार ने गुरुवार को लोकसभा में कहा कि वह एयर इंडिया के विनिवेश के लिए प्रतिबद्ध है और एयर इंडिया की अनुषंगी कंपनियों की बिक्री के लिए रूपरेखा को मंजूरी दे दी गई है। नागर विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा, सरकार एयर इंडिया के विनिवेश के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कुंवर हरिवंश सिंह, सुधीर गुप्ता, एसआर विजय कुमार और अशोक चव्हाण के प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि एयर इंडिया विशिष्ट वैकल्पिक प्रणाली (एआईएसएएम) ने एयर इंडिया की अनुषंगी कंपनियों - एयर इंडिया इंजीनियरिंग सविर्सेज लिमिटेड (एआईईएसएल), एयर इंडिया एयर ट्रांसपोर्ट सविर्सेज लिमिटेड (एआईएटीएसएल) और एयरलाइन एलाइड सविर्सेज लिमिटेड (एएएसएल) के निपटान की पद्धति की रूपरेखाओं का निर्णय करने का अलग से फैसला लिया है। सिन्हा ने कहा कि इसके अतिरिक्त एआईएसएएम ने अन्य बातों के साथ एयर इंडिया की अनुषंगी कंपनियों की बिक्री के लिए रूप रेखा स्वीकृत की है और एआईएटीएसएल की बिक्री की प्रक्रिया को तेज करने के निर्देश दिये हैं। एक अन्य प्रश्न के लिखित उत्तर में नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने बताया कि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के स्वामित्व और प्रबंधन के अंतर्गत 129 हवाईअड्डे आते हैं जिनमें से 94 वित्त वर्ष 2017-18 में घाटे में चल रहे थे। ये घाटे मुख्य रूप से संबंधित हवाईअड्डों पर होने वाले कुल व्यय की तुलना में कम राजस्व की प्राप्ति की वजह से हुए हैं। उन्होंने एक अन्य प्रश्न के उत्तर में कहा कि वित्त वर्ष 2017-18 में इंदौर, भोपाल और रायपुर हवाईअड्डों को घाटा हुआ है। प्रभु ने कपिल पाटिल के प्रश्न के उत्तर में कहा कि एएआई ने गैर- प्रमुख हवाईअड्डों पर टैरिफ में वृद्धि के रूप में वैमानिक राजस्व में वृद्धि करने के लिए कदम उठाये हैं और राजस्व में वृद्धि करने तथा घाटों में कमी लाने के लिए कुछ हवाईअड्डों का वाणिज्यिक दृष्टि से दोहन करने के लिए उपाय किये गये हैं।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
एक और मरीज में स्वाइन फ्लू वायरस की पुष्टि || 845 वाहनों को चेक कर 35चालकों पर लगाया 21हजार रु. का जुर्माना || समयबद्ध तरीके से उपवास करें तो बढ़ती उम्र संबंधी बीमारियों से बच सकते हैं : अध्ययन  || कैबिनेट की मंजूरी:12 राज्यों में बनेंगे 13 केंद्रीय विवि || बावड़िया रेलवे क्रॉसिंग पर फंसे वाहन, 20 मिनट तक रोकनी पड़ी ट्रेन || चारा दिखाकर भी गाड़ी में चढ़ने को तैयार नहीं आवारा गायें, कई कर्मचारियों को सींग भी मारे || कार्ड रीडर अपडेट हो रहे ATM में फंस रहे नए कार्ड || कोई भी मतदाता, मतदाता सूची में शामिल होने से वंचित न रहे: शर्मा || रामास्वामी और जाफर के शतकों से विदर्भ मजबूत || 10वीं की छात्रा पर किए अश्लील कमेंट्स, पत्थर मारा, केस दर्ज || मास्टर ने कॉपी में नहीं बताया सही सबक, मिला नोटिस || दबोचे गए 2 तस्कर, किराए के मकान में भर रखा था गांजा || भोपाल बहुत खूबसूरत शहर है, हमें ही करनी होगी ब्रान्डिंग || ऋण भुगतान में असफल जेट एयरवेज को एतिहाद से आशा  || करंट से दौड़ने वाले रिक्शा का रूट तय करेगी सरकार || हाइवे पर कर रहे थे पुलिस बनकर वसूली सीएसपी को देखा तो कार छोड़ भागे ||
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.