20-07-2018 10:08:pm
घाटी में जाकिर के पीस टीवी समेत 30 चैनल बैन  || मोटे अफसरों को दिया फिटनेस प्रमाण पत्र, तो डॉक्टरों पर हो सकती है कार्रवाई || मिग क्रैश होने से पहले आबादी से दूर ले गए पायलट, मौत  || सिंगर हंसराज हंस बने आध्यात्मिक गुरू || सार्वजनिक स्थलों पर मिले स्तनपान सुविधा : हाईकोर्ट || स्मार्टफोन से बढ़ सकता है एडीएचडी का खतरा || त्यागी समेत 34 के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल  || बृहस्पति के 10 नए ‘चंद्रमा’ खोजे गए || मोदी सरकार के खिलाफ चार साल में पहली बार अविश्वास || तुर्की में 24 माह बाद खत्म हुआ आपातकाल || भारतवंशी सालाना 100 करोड़ डॉलर करते हैं दान || रणजी में उतरेंगी बिहार सहित नौ नई टीमें  || पाकिस्तान की एकतरफा जीत  || हंगामे से हर घंटे 1.5करोड़ रु. की चपत || जजों की रिटायरमेंट उम्र 2 साल बढ़ा सकती है सरकार  || 20 मील पैदल चलकर पहुंचा आॅफिस, बॉस ने गिफ्ट की कार ||

जबलपुर।   टीकमगढ़ के वृंदावन तालाब की खुदाई के लिये दिए गए आदेश के बाद बड़ी-बड़ी मशीनों से हार्ड मुरुम का उत्खनन कर तालाब को खाई नुमा बनाने का आरोप लगाते हुए मामले को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है। मामले में आवेदिका का दावा है कि तालाब में कहीं 8 फीट तो कहीं 25 से 30 फीट के गड्ढे कर दिए गए हैं, जिसमें उनके पुत्र व भांजे की डूबकर मौत हो चुकी है। मामले में राहत चाही गई कि किसी और के बच्चों के साथ ऐसा हादसा न हो इसलिये उक्त उत्खनन को रोका जाए और मामले की जांच कराकर दोषियों पर कार्रवाई की जाए। चीफ जस्टिस हेमंत गुप्ता व जस्टिस व्हीके शुक्ला की युगलपीठ ने मामले को गंभीरता से लेते हुए अनावेदकों को नोटिस जारी कर चार सप्ताह में जवाब पेश करने के निर्देश दिए हैं। यह जनहित याचिका टीकमगढ़ के बल्देवगढ़ निवासी अनीता रजक की ओर से दायर की गई है। जिसमें कहा गया है कि टीकमगढ़ स्थित वृंदावन तालाब है। याचिकाकर्ता का कहना है कि तालाब के गहरीकरण को लेकर कलेक्टर ने आदेश जारी किए थे। आरोप है कि जिसके बाद नगर पालिका ने तालाब खुदाई का कार्य कराना शुरू करा दिया।

बिना रॉयल्टी के बेची

मुरुम आरोप है कि नपा ने अपने कुछ खास लोगों को उक्त कार्य का ठेका दे दिया। जिन्होनें जेसीबी सहित अन्य बडे उपक्रमों से तालाब की खुदाई शुरू की और उसने निकलने वाली हार्ड मुरुम को बिना रॉयल्टी के बेच दिया। आरोप है कि तालाब गहरीकरण के नाम पर पूरे तालाब को अवैध माइनिंग का अड्डा बनाते हुए जगहज गह खाई नुमा रूप में तब्दील कर दिया गया। जिससे हादसे घटित हो रहे है।

इन्हें बनाया पक्षकार

मामले में प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन विभाग, टीकमगढ़ कलेक्टर व नगर पालिका टीकमगढ़ को पक्षकार बनाया गया है। सुनवाई के पश्चात् न्यायालय ने सभी अनावेदकों को नोटिस जारी कर चार सप्ताह में जवाब पेश करने के निर्देश दिए हैं। याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता डीके त्रिपाठी ने पक्ष रखा।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
टीले पर फंसा परिवार, सेना का हेलिकॉप्टर भी मदद में नाकाम  || केरवा कोठी पर सुनवाई आज, अजय सिंह पर मां ने लगाए थे आरोप  || 3 साल की योजना से केंद्र ने 1 साल में हाथ खींचे  || प्रदर्शन कर शिक्षको ने जताई नाराजगी || शिवराज को आशीर्वाद मांगने का कोई हक नहीं || मंत्री पवैया के लोकार्पण करने के 37 दिन बाद भी आवासों का आवंटन नहीं || एमएससी बॉटनी की मार्कशीट दो साल बाद भी नहीं आर्इं || मप्र को भी अब बड़े पैमाने पर मिल रहे हैं मैडल: यशोधरा || 20 से ट्रांसपोर्टर्स की स्ट्राइक, सब्जी, किराने की होगी किल्लत || एटीएम से बैटरी व एसी चुराने वाले गिरफ्तार || बैंक में चली गोली, गनमैन व गार्ड घायल || फरार भू-माफिया शेख इस्माइल गिरफ्तार || व्यापारी के साथ सरेराह एक लाख रुपए की लूट || अनिश्चितकालीन हड़ताल पर 23 से जाएंगे जूनियर डॉक्टर्स  || मप्र में पहली बार इंदौर में लगेंगे रेडियो फ्रिक्वेंसी स्मार्ट मीटर ||
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.