20-07-2018 09:30:pm
घाटी में जाकिर के पीस टीवी समेत 30 चैनल बैन  || मोटे अफसरों को दिया फिटनेस प्रमाण पत्र, तो डॉक्टरों पर हो सकती है कार्रवाई || मिग क्रैश होने से पहले आबादी से दूर ले गए पायलट, मौत  || सिंगर हंसराज हंस बने आध्यात्मिक गुरू || सार्वजनिक स्थलों पर मिले स्तनपान सुविधा : हाईकोर्ट || स्मार्टफोन से बढ़ सकता है एडीएचडी का खतरा || त्यागी समेत 34 के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल  || बृहस्पति के 10 नए ‘चंद्रमा’ खोजे गए || मोदी सरकार के खिलाफ चार साल में पहली बार अविश्वास || तुर्की में 24 माह बाद खत्म हुआ आपातकाल || भारतवंशी सालाना 100 करोड़ डॉलर करते हैं दान || रणजी में उतरेंगी बिहार सहित नौ नई टीमें  || पाकिस्तान की एकतरफा जीत  || हंगामे से हर घंटे 1.5करोड़ रु. की चपत || जजों की रिटायरमेंट उम्र 2 साल बढ़ा सकती है सरकार  || 20 मील पैदल चलकर पहुंचा आॅफिस, बॉस ने गिफ्ट की कार ||

ग्वालियर। फेसबुक पर देश में गुलाम-ए-मुस्तफा कानून चलता है और चलता रहेगा, कहने वाले कश्मीरी मोहम्मद वकार भाटी की पत्नी रश्मि भाटी जीवाजी विवि में पीएचडी कर रही है। इंटेलीजेंस ब्यूरो ने विवि से पत्नी के संबंध में जानकारी मांगी है। इंटेलीजेंस ब्यूरो को यह जानकारी मिली है कि कश्मीरी मोहम्मद वकार भाटी की पत्नी रश्मि भाटी जेयू में पीएचडी कर रही है। इसलिए वह पत्नी से मिलने के लिए ग्वालियर आता है। आईबी के अधिकारी मंगलवार को सांख्यिकी अधिकारी प्रदीप शर्मा के पास पहुंचे और रश्मि भाटी के संबंध में जानकारी मांगी। सांख्यिकी अधिकारी ने पीएचडी शाखा से पीएचडी करने वाली रश्मि नाम की 120 छात्राओं के नाम लेकर आईबी को दे दिए हैं, लेकिन रश्मि भाटी नाम की एक भी छात्रा नहीं है। पीएचडी शाखा के कर्मचारी छात्रा रश्मि भाटी के संबंध में जानकारी जुटा रहे हैं। बुधवार को थाना पड़ाव और मुरार टीआई भी रश्मि भाटी को लेकर जानकारी लेने पहुंचे। गौरतलब है कि एक साल पहले जेयू से एमएससी करने वाले कश्मीरी शेह मुद्दसर ने फेसबुक के जरिए भारतीय क्रिकेट टीम पर कमेंट्स किए थे, तब विवि पुलिस ने छात्र के खिलाफ केस दर्ज किया था।

7 कश्मीरियों की पीएचडी विवादों में, जांच अटकी

कोर्स वर्क की परीक्षा में शामिल हुए बिना पीएचडी कोर्स वर्क की परीक्षा देने वाले कश्मीरी छात्र एजाज अहमद, शाजिद अहमद भट्ट, नजमूल इस्लाम मलिक, मीर मुसिद्दक, मंजूर अहमद बानी, हिलाल अहमद और बशरत अली के मामले में गठित जांच कमेटी के अध्यक्ष प्रो. हेमंत शर्मा ने विवि से यह जानकारी मांगी है कि इन छात्रों के परीक्षा फार्म किसने फॉरवर्ड किए थे, लेकिन जानकारी नहीं मिल पाई है। छात्रों की स्टडी सेंटर के रूप में एमएलबी कॉलेज एलॉट हुआ था। शिकायत होने पर कॉलेज में प्रो. अयूब खान ने जांच करके रिपोर्ट विवि को सौंपी थी। रिपोर्ट में कहा गया था कि कोर्स वर्क की परीक्षा में छात्रों की उपस्थिति 75 फीसदी नहीं है।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
टीले पर फंसा परिवार, सेना का हेलिकॉप्टर भी मदद में नाकाम  || केरवा कोठी पर सुनवाई आज, अजय सिंह पर मां ने लगाए थे आरोप  || 3 साल की योजना से केंद्र ने 1 साल में हाथ खींचे  || प्रदर्शन कर शिक्षको ने जताई नाराजगी || शिवराज को आशीर्वाद मांगने का कोई हक नहीं || मंत्री पवैया के लोकार्पण करने के 37 दिन बाद भी आवासों का आवंटन नहीं || एमएससी बॉटनी की मार्कशीट दो साल बाद भी नहीं आर्इं || मप्र को भी अब बड़े पैमाने पर मिल रहे हैं मैडल: यशोधरा || 20 से ट्रांसपोर्टर्स की स्ट्राइक, सब्जी, किराने की होगी किल्लत || एटीएम से बैटरी व एसी चुराने वाले गिरफ्तार || बैंक में चली गोली, गनमैन व गार्ड घायल || फरार भू-माफिया शेख इस्माइल गिरफ्तार || व्यापारी के साथ सरेराह एक लाख रुपए की लूट || अनिश्चितकालीन हड़ताल पर 23 से जाएंगे जूनियर डॉक्टर्स  || मप्र में पहली बार इंदौर में लगेंगे रेडियो फ्रिक्वेंसी स्मार्ट मीटर ||
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.