20-07-2018 10:02:pm
घाटी में जाकिर के पीस टीवी समेत 30 चैनल बैन  || मोटे अफसरों को दिया फिटनेस प्रमाण पत्र, तो डॉक्टरों पर हो सकती है कार्रवाई || मिग क्रैश होने से पहले आबादी से दूर ले गए पायलट, मौत  || सिंगर हंसराज हंस बने आध्यात्मिक गुरू || सार्वजनिक स्थलों पर मिले स्तनपान सुविधा : हाईकोर्ट || स्मार्टफोन से बढ़ सकता है एडीएचडी का खतरा || त्यागी समेत 34 के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल  || बृहस्पति के 10 नए ‘चंद्रमा’ खोजे गए || मोदी सरकार के खिलाफ चार साल में पहली बार अविश्वास || तुर्की में 24 माह बाद खत्म हुआ आपातकाल || भारतवंशी सालाना 100 करोड़ डॉलर करते हैं दान || रणजी में उतरेंगी बिहार सहित नौ नई टीमें  || पाकिस्तान की एकतरफा जीत  || हंगामे से हर घंटे 1.5करोड़ रु. की चपत || जजों की रिटायरमेंट उम्र 2 साल बढ़ा सकती है सरकार  || 20 मील पैदल चलकर पहुंचा आॅफिस, बॉस ने गिफ्ट की कार ||

इंदौर नगर निगम ने इस साल के स्वच्छता सर्वेक्षण में लगातार दूसरी बार नंबर 1 होने का तमगा हासिल किया है। देशभर में सफाई के मामले में इंदौर के लोगों और इंदौर नगर निगम को प्रतिसाद भी मिल रहा है। इस तमगे को कायम रखना नगर निगम के लिए आसान नहीं है। पहले पायदान में आने के बाद और कड़ी मेहनत करना होगा, तभी इंदौर नंबर 1 की बादशाहत को कायम रख पाएगा। स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए केन्द्र सरकार की शर्ते और कड़ी होने वाली है। इसमें अब केंद्र सरकार ने एक और शर्त जोड़ी है। इस वर्ष स्वच्छता सर्वेक्षण की 50 प्रतिशत पुराने कचरे को रिसाइकल करने वाली शर्त देश के कई शहरों के लिए मुश्किल भरी साबित होगी। इंदौर नगर निगम भले ही दो सालों से स्वच्छता सर्वेक्षण में नंबर वन बना हुआ है, लेकिन आने वाले समय में इंदौर नगर निगम के लिए यह ताज कायम रखना मुश्किल होगा, क्योंकि इस साल होने वाले स्वच्छता सर्वेक्षण में शहरों की रेटिंग स्टार रेटिंग के आधार पर होगी। इस साल निगम अब तक 3 स्टार रेटिंग के लिए अपनी दावेदारी जता चुका है, लेकिन फाइव स्टार रेटिंग के लिए उसे शहर में पूर्व से डंप हुए कचरे को 50 प्रतिशत तक रिसाइकल करना होगा। इस शर्त के कारण देश के कई बड़े शहर इस सर्वेक्षण से बाहर हो जाएंगे, क्योंकि शहर में 2 दिन पहले आए अहमदाबाद म्यूनिसिपल कारपोरेशन के सदस्यों ने बताया कि उनके लिए शहर में डंप किया गया पुराना कचरा चुनौती साबित हो रहा है और उन्हें समझ नहीं आ रहा कि किस तरह से इसे रिसाइकल करें। इसी तरह दिल्ली, मुंबई जैसे देश के अन्य महानगरों में भी यह कचरा पहाड़ की आकृति ले चुका है और यहां आए दिन कचरे के अंदर आग सुलगती रहती है।

146 एकड़ में फैला है

लगभग 146 एकड़ में फैला देवगुराड़िया स्थित ट्रेंचिंग ग्राउंड डंपिंग यार्ड है जिसको स्वच्छ भारत के अगले चरण में 50 प्रतिशत तक खत्म करने की चुनौती नगर निगम के सामने है। पिछले 6 माह में नगर निगम ने कुल 12 टन पुराने कचरे में से 2 टन कचरे को रिसाइकल किया है और टेंचिंग ग्राउंड पर 8 बगीचे बनाए हैं। यहां लगभग 10 टन पुराना कचरा अभी भी पड़ा हुआ है जिसको रिसाइकल करने की चुनौती अब नगर निगम के सामने बनी हुई है।

2019 स्वच्छता सर्वेक्षण की सबसे कठिन शर्त

निगमायुक्त आशीष सिंह ने बताया कि इस वर्ष स्वच्छता सर्वेक्षण कि यह कठिन शर्त है जिस पर इंदौर खरा उतरना चाह रहा है, लेकिन इसके लिए आर्थिक खर्च भी करना होगा। हमने 25 करोड रुपए की राशि केंद्र सरकार से मांगी है। अगर यह राशि मिल जाती है तो हमें ट्रेंचिंग ग्राउंड से 50 प्रतिशत कचरे को रिसाइकल करने में सफलता मिल जाएगी और इंदौर फाइव स्टार रेटिंग लेने में कामयाब होगा।

ट्रेंचिंग ग्राउंड से कॉलोनियों के रहवासी परेशान

शहर के लिए ट्रेंचिंग ग्राउंड मुसीबत बन गया है। ट्रेंचिंग ग्राउंड के आसपास की कॉलोनियों के लोग इस ट्रेंचिंग ग्राउंड से परेशान हो गए हैं। इसके लिए कई बार आंदोलन भी हुए हैं। कचरे को जलाने के बाद निकलने वाले धुएं और जहरीली गैसों के कारण रहवासियों की जिंदगी दूभर हो गई है। यदि केंद्र सरकार से इंदौर नगर निगम को 25 करोड़ रुपए की राशि मिल जाती है तो ट्रेंचिंग ग्राउंड के कचरे को रिसाइकल किया जा सकेगा। इसके बाद ट्रेंचिंग ग्राउंड के आसपास की कॉलोनी के लोगों को इस कचरे से निजात मिल जाएगी। वर्तमान में इकट्ठे किए जा रहे कचरे में से लगभग शत प्रतिशत कचरे को रिसाइकल किया जा रहा है।

दो सालों में नगर निगम की सकारात्मक पहल

नगर निगम देवगुराड़िया स्थित ट्रेंचिंग ग्राउंड पर सालों से कचरा डंप करते आया है जिससे यहां कचरे के पहाड़ बन चुके हैं। हालांकि पिछले 2 सालों में नगर निगम ने इस कचरे को खत्म करने के लिए काफी बड़ी सकारात्मक पहल करते हुए इस कचरे को रिसाइकल किया है जिसके चलते स्वच्छता सर्वेक्षण में इंदौर को नंबर वन की पोजिशन हासिल करने में अधिक अंक मिले हैं। यही कारण है कि इंदौर 2 सालों से स्वच्छता रैंकिंग में नंबर वन आ रहा है। तीसरे साल भी नगर निगम को अपनी स्वच्छता और सर्वोच्चता को कायम रखना है तो ट्रेंचिंग ग्राउंड के 50 प्रतिशत कचरे को रिसाइकल करना होगा।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
टीले पर फंसा परिवार, सेना का हेलिकॉप्टर भी मदद में नाकाम  || केरवा कोठी पर सुनवाई आज, अजय सिंह पर मां ने लगाए थे आरोप  || 3 साल की योजना से केंद्र ने 1 साल में हाथ खींचे  || प्रदर्शन कर शिक्षको ने जताई नाराजगी || शिवराज को आशीर्वाद मांगने का कोई हक नहीं || मंत्री पवैया के लोकार्पण करने के 37 दिन बाद भी आवासों का आवंटन नहीं || एमएससी बॉटनी की मार्कशीट दो साल बाद भी नहीं आर्इं || मप्र को भी अब बड़े पैमाने पर मिल रहे हैं मैडल: यशोधरा || 20 से ट्रांसपोर्टर्स की स्ट्राइक, सब्जी, किराने की होगी किल्लत || एटीएम से बैटरी व एसी चुराने वाले गिरफ्तार || बैंक में चली गोली, गनमैन व गार्ड घायल || फरार भू-माफिया शेख इस्माइल गिरफ्तार || व्यापारी के साथ सरेराह एक लाख रुपए की लूट || अनिश्चितकालीन हड़ताल पर 23 से जाएंगे जूनियर डॉक्टर्स  || मप्र में पहली बार इंदौर में लगेंगे रेडियो फ्रिक्वेंसी स्मार्ट मीटर ||
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.