20-07-2018 10:07:pm
घाटी में जाकिर के पीस टीवी समेत 30 चैनल बैन  || मोटे अफसरों को दिया फिटनेस प्रमाण पत्र, तो डॉक्टरों पर हो सकती है कार्रवाई || मिग क्रैश होने से पहले आबादी से दूर ले गए पायलट, मौत  || सिंगर हंसराज हंस बने आध्यात्मिक गुरू || सार्वजनिक स्थलों पर मिले स्तनपान सुविधा : हाईकोर्ट || स्मार्टफोन से बढ़ सकता है एडीएचडी का खतरा || त्यागी समेत 34 के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल  || बृहस्पति के 10 नए ‘चंद्रमा’ खोजे गए || मोदी सरकार के खिलाफ चार साल में पहली बार अविश्वास || तुर्की में 24 माह बाद खत्म हुआ आपातकाल || भारतवंशी सालाना 100 करोड़ डॉलर करते हैं दान || रणजी में उतरेंगी बिहार सहित नौ नई टीमें  || पाकिस्तान की एकतरफा जीत  || हंगामे से हर घंटे 1.5करोड़ रु. की चपत || जजों की रिटायरमेंट उम्र 2 साल बढ़ा सकती है सरकार  || 20 मील पैदल चलकर पहुंचा आॅफिस, बॉस ने गिफ्ट की कार ||

इंदौर भारत सरकार के पर्यावरण मंत्रालय के अधीन संचालित होने वाले केंद्रीय पॉलुशन बोर्ड की रिपोर्ट में कई तथ्य सामने आए हैं। देश की 275 प्रदूषित नदियों में इंदौर की कान्हा और सरस्वती नदी तीसरे नंबर पर आई है। देश में 445 नदियों में से 275 नदियां प्रदूषित हो रही हैं। ये नदियों को पांच श्रेणी में बांटा गया है और सबसे ज्यादा गंदी नदी में इंदौर शहर की कान्ह और सरस्वती नदी शामिल हैं। रिपोर्ट के मुताबिक नदियों के पानी में आॅक्सीजन बिलकुल नहीं है और पानी जहरीला हो रहा है। मौजूदा हालातों को देखते हुए अब इंदौर कलेक्टर निशांत वरवड़े ने एनजीटी के आदेश पर समिति गठित की है। समिति में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के साथ जिला प्रशासन, नगर निगम, टाउन एंड कंट्री प्लानिंग, शहरी विकास विभाग, प्राधिकरण, वन, जल संसाधन और याचिकाकर्ता किशोर कोडवानी शामिल है। कलेक्टर निशांत वरवड़े की मानें तो सिविल ट्रीटमेंट प्लांट लगाने से नदियों में प्रदूषण कम होगा और इसके लिए इंदौर नगर निगम को छह जगहों पर सिविल ट्रीटमेंट प्लांट लगाने के फ्री में जगह भी उपलब्ध कराई है। कान्हा और सरस्वती नदी को पुराने स्वरुप में लाने के लिए प्रयास किये जाने के दावे भी किए। गौरतलब है कि प्रदूषित 34 नदियों में मुंबई की मीठी नदी में 170, दिल्ली की यमुना में 113, इंदौर की कान्ह- सरस्वती में 70, गुजरात की साबरमती में 46 मिलीग्राम पर बीओडी मतलब आॅक्सीजन की मात्रा पाई गई है। सामान्यत तौर पर अधिकतम बीओडी की मात्रा 30 होती है जो कम प्रदूषित मानी जाती है। हाल ही में केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने नए सिविल ट्रीटमेंट प्लांट के संबंध में पुराने मानकों से कुछ छूट भी प्रदान की है।

peoplessamachar
NEWS EXPRESS

0

 
टीले पर फंसा परिवार, सेना का हेलिकॉप्टर भी मदद में नाकाम  || केरवा कोठी पर सुनवाई आज, अजय सिंह पर मां ने लगाए थे आरोप  || 3 साल की योजना से केंद्र ने 1 साल में हाथ खींचे  || प्रदर्शन कर शिक्षको ने जताई नाराजगी || शिवराज को आशीर्वाद मांगने का कोई हक नहीं || मंत्री पवैया के लोकार्पण करने के 37 दिन बाद भी आवासों का आवंटन नहीं || एमएससी बॉटनी की मार्कशीट दो साल बाद भी नहीं आर्इं || मप्र को भी अब बड़े पैमाने पर मिल रहे हैं मैडल: यशोधरा || 20 से ट्रांसपोर्टर्स की स्ट्राइक, सब्जी, किराने की होगी किल्लत || एटीएम से बैटरी व एसी चुराने वाले गिरफ्तार || बैंक में चली गोली, गनमैन व गार्ड घायल || फरार भू-माफिया शेख इस्माइल गिरफ्तार || व्यापारी के साथ सरेराह एक लाख रुपए की लूट || अनिश्चितकालीन हड़ताल पर 23 से जाएंगे जूनियर डॉक्टर्स  || मप्र में पहली बार इंदौर में लगेंगे रेडियो फ्रिक्वेंसी स्मार्ट मीटर ||
© Copyright 2016 By Peoples Samachar.